लंदन. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ब्रिटेन दौर पर लंदन में अपने पहले भाषण में नरेंद्र मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा है कि लोगों को बांटने से 130 करोड़ की आबादी वाले भारत की ताकत कमजोर होती है और देश अपनी ताकत को सही तरीके से बढ़ा नहीं पा रहा है. राहुल लंदन के भाषण में नोटबंदी, पाकिस्तान से बातचीत, चीन से संबंध और डोकलाम विवाद पर भी बात की. राहुल गांधी जर्मनी दौरे के बाद यूनाइटेड किंगडम यानी ब्रिटेन के दौरे पर लंदन पहुंचे हैं जहां इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ स्ट्रैटजिक स्टडीज में वो बोल रहे थे.

राहुल गांधी ने कहा कि 1000 और 500 रुपए के पुराने नोट बंद करके 2000 रुपए का नोट चलाने वाला नोटबंदी का आयडिया प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दिमाग में सीधे आरएसएस ने बिठाया और ऐसा करने में वित्त मंत्रालय से लेकर भारतीय रिजर्व बैंक तक को दरकिनार कर दिया गया. उन्होंने कहा कि भारत को कामयाबी तभी मिली है जब फैसला करने की ताकत को बांटा गया है लेकिन पिछले चार साल से अधिकार को मुठ्ठी में समेटा जा रहा है.

राहुल गांधी ने वैश्वीक कूटनीति में भारतीय स्टैंड पर कहा कि भारत तकरार कम करने में माहिर है. उन्होंने कहा कि भारत का बुनियादी सिद्दांत रहा है कि कोई पूछे कि भारत लेफ्ट के साथ है या राइट के साथ तो हमारा जवाब होगा भारत सीधे खड़ा है. उन्होंने चीन की चर्चा करते हुए कहा कि चीन के साथ पारंपरिक रिश्तों के बावजूद लोकतांत्रिक ढांचों में भारत यूरोपीय देशों के करीब हैं.

पाकिस्तान से बातचीत का कोई फायदा नहीं क्योंकि कोई संस्था सर्वोच्च नहीं: राहुल गांधी

पाकिस्तान में सरकार और विदेश मामलों में सेना और आईएसआई की दखलअंदाजी पर बिना नाम लिए निशाना साधते हुए राहुल ने कहा कि पाकिस्तान से तब तक बातचीत मुश्किल है जब तक वहां सरकार का सही ढांचा कायम ना हो जाए. अभी पाकिस्तान में कोई संस्था ही नहीं है जो सर्वोच्च हो जिससे बात करके कोई अंतिम हल निकले. इसलिए हम तब तक इंतजार करेंगे जब तक वहां एक सुसंगत व्यवस्था ना बन जाए. राहुल ने कहा कि पीएम मोदी की पाकिस्तान रणनीति में गहरी सोच-समझ की कमी है.

बर्लिन में राहुल गांधी से पूछी 2019 लोकसभा चुनावों की रणनीति तो बोले- पीएम नरेंद्र मोदी नहीं जीतेंगे

विदेश मंत्रालय के कामकाज और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज पर कटाक्ष करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि विदेश मंत्रालय के एकाधिकार को खत्म करके एक नई तरह की व्यवस्था बनाई जा रही है जिसमें विदेश मंत्री अपना काफी समय सिर्फ वीजा बनवाने में लगाती हैं.

बर्लिन में गरजे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, कहा- BJP और RSS देश को बांट रहे हैं

राहुल गांधी ने चीन के साथ तनातनी भरे डोकलाम विवाद पर कहा कि डोकलाम कोई अलग-थलग मसला नहीं है. ये कई घटनाओं का हिस्सा है जबकि प्रधानमंत्री मोदी डोकलाम को एक घटना के तौर पर देखते हैं. राहुल ने कहा कि अगर वो डोकलाम तक की पूरी प्रक्रिया पर नजर रखते तो इसे रोक सकते थे. राहुल ने कहा कि सच्चाई यही है कि डोकलाम में आज भी चीनी सैनिक मौजूद हैं.

मनोज तिवारी ने कसा राहुल गांधी पर तंज, शिकंजी को कोका-कोला, बेरोजगारी मतलब ISIS बताते हैं, बाबा ठीक तो हैं ना

राहुल ने कहा कि भारत पिछले 70 साल से बदल रहा है और एक ग्रामीण देश लोकतांत्रिक सिद्धांतों पर चलकर आगे बढ़ रहा है. उन्होंने कहा कि हमारे देश में बदलाव शांतिपूर्ण रहा है और हमारी अघोषित नीति रही है कि इसका लाभ सारे नागरिकों को मिले और कोई इससे छूटे नहीं. भोजन का अधिकार, काम का अधिकार, सूचना का अधिकार इस बदलाव के दौरान लोगों की दिक्कतों को कम करने के उपाय रहे.

देखें वीडियो:

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App