नई दिल्ली. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एम. वीरप्पा मोइली ने गुजरात चुनाव के नतीजों को लेकर कहा है कि ऐसा हो सकता है कि कपिल सिब्ब्ल और मणिशंकर अय्यर के विवादित बयानों के कारण पार्टी के अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा चुनाव अभियानों में हासिल किए गए सारे फायदे बर्बाद हो गए हों. साथ ही वीरप्पा मोइली ने दावा किया कि राहुल गांधी साल 2019 के आम चुनावों के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विकल्प के रूप में सामने आए हैं. मोइली यहीं नहीं थमे उन्होंने पीएम मोदी पर गुजरात की जनता को इमोशनल ब्लैकमेल करने का आरोप लगाते हुए कहा है कि राजनीतिक पार्टियों को जुमलेबाजी के आधार पर चुनाव नहीं लड़ना चाहिए. वहीं अय्यर की पीएम मोदी पर नीच आदमी वाली टिप्पणी का जिक्र करते हुए मोइली ने कहा कि ‘अय्यर जैसे हमारे लोगों को उनके खिलाफ वैसे मुद्दे नहीं उठाने चाहिए थे.’

मोइली ने कहा कि पीएम मोदी ने अय्यर के उस बयान का इस्तेमाल हमारे नेताओं पर हमला बोलने के लिए किया. इसको लेकर हमें सावधान रहना चाहिए था. वीरप्पा मोइली ने कहा कि राम जन्मभूमि मामले की सुनवाई को साल 2019 के चुनावों के बाद तक के लिए टालने का कपिल सिब्ब्ल का बयान अनावश्यक था. मोइली ने कहा कि ‘उन्हें ऐसे बयान नहीं देने चाहिए थे. पार्टी की ओर से ऐसे बयान देने के लिए वो अधिकृत नहीं थे.’

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि ‘कई बार हमारा नेतृत्व यानी राहुल गांधी की ओर से जो कुछ भी किया जाता है, उसे ऐसे बयान बर्बाद कर देते हैं. ये पार्टी का दृष्टिकोण नहीं है और प्रधानमंत्री ने इस बयान का भी इस्तेमाल किया.’ मोइली ने कहा कि राहुल के नेतृत्व में गुजरात में कांग्रेस का प्रदर्शन ‘सर्वश्रेष्ठ के समान’ रहा.

गुजरात में हार पर बोले राहुल गांधी, चुनाव के नतीजे मोदी की विश्वसनीयता पर बड़ा सवाल

महाबहस: मणिशंकर अय्यर ने पीएम मोदी को कहा नीच दिल्ली से गुजरात तक मचा घमासान

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App