इंदौर. कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मीडिया से कहा कि वह पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी के संसद में आंख मारे जाने के मामले पर चिंता जाहिर करने के बजाय किसानों की हत्या और बलात्कारों के मामले पर ध्यान दे. जब उनसे अविश्वास प्रस्ताव के दौरान राहुल गांधी के आंख मारने को लेकर सवाल पूछे गए तो उन्होंने कहा, ”किसान आत्महत्या कर रहे हैं, महिलाओं का बलात्कार किया जा रहा है.

दलितों पर अत्याचार हो रहा है. आदिवासियों की जमीन पर कब्जा और बेरोजगारी बढ़ रही है.” सिंधिया ने कहा, मीडिया को राहुल गांधी के संसद में उठाए गए मुद्दों पर फोकस करना चाहिए या आंख मारने को? क्या आंख मारना इतनी बड़ी बात है? क्या आप लोगों ने कभी आंख नहीं मारी? हाल ही में फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) में इजाफे को सिंधिया ने चुनावी दांव बताया.

पेट्रोल की बढ़ती कीमतों को लेकर नरेंद्र मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए सिंधिया ने कहा कि पिछले आम चुनावों से पहले मोदी ने कहा था कि विदेशों से काला धन लाकर हर भारतीय के खाते में 15 लाख रुपये जमा कराए जाएंगे. लेकिन इसके बजाय सरकार ने महंगे पेट्रोल-डीजल के जरिए लोगों से 15 लाख करोड़ रुपये वसूल लिए.

राहुल गांधी और पीएम नरेंद्र मोदी के गले मिलन पर मुंबई कांग्रेस का नया पोस्टर जारी, नफरत से नहीं प्यार से जीतेंगे चुनाव

अविश्वास प्रस्ताव: राहुल गांधी बोले- नरेंद्र मोदी चौकीदार नहीं, भागीदार हैं, पढ़िए भाषण की 20 बड़ी बातें

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App