पंजाब: पंजाब कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू पर कांग्रेस पार्टी जल्द ही सख्त अनुशासनात्मक कार्रवाई कर सकती है। एक दिन पहले ही पार्टी विरोधी गतिविधियों का आरोप लगाते हुए कांग्रेस के पंजाब प्रभारी हरीश चौधरी ने केंद्रीय नेतृत्व से सिद्धू से जवाब तलब कर उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी।

इसके बाद कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल ने यह शिकायत पत्र अनुशासन समिति को भेज कर उचित कार्रवाई करने की सलाह भी दे दी थी। गौरतलब है कि केसी वेणुगोपाल ने अपनी पैरवी में अनुशासन समिति के अध्यक्ष एके एंटनी को भी बता दिया था कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी इस शिकायती पत्र को देख लिया है यानी इशारा साफ था कि कांग्रेस नेतृत्व सिद्धू पर कार्रवाई के हक में है।

अब अनुशासन समिति ने सिद्धू पर फैसले के लिए बैठक 6 मई को बुलाई है. खबरों के मुताबिक सिद्धू को नोटिस भेज तुरंत जवाब तलब किया जाएगा और साथ ही साथ जवाब आते ही सिद्धू को पहले निलंबित किया जा सकता है. इसके बाद सिद्धू का निष्कासन भी हो सकता है।

सिद्धू से सोनिया गाँधी भी है नाराज

गौरतलब है कि पंजाब चुनाव के दौरान कैप्टन अमरिंदर सिंह को मुख्यमंत्री पद से हटाने के बाद चरणजीत सिंह चन्नी को मुख्यमंत्री बनाए जाने के फैसले से नाराज नवजोत सिंह सिद्धू ने पहले तो अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था और फिर लगातार अपनी ही पार्टी पर निशाना भी साध  दे रहे थे। हाल में जिस दिन प्रशांत किशोर से कांग्रेस ने बातचीत टूटने का ऐलान किया था ठीक उसी दिन सिद्धू प्रशांत किशोर के साथ अपनी तस्वीर ट्वीट की थी, जिससे पार्टी के काफी नेता नाराज बताए जा रहे थे. सिद्धू से प्रियंका गांधी भी काफी नाराज बताए जा रही थी।

यह भी पढ़े:

गुरुग्राम के मानेसर में भीषण आग, मौके पर दमकल की 35 गाड़ियां

SHARE

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर