उत्तर प्रदेश. उत्तर प्रदेश में आगामी वर्ष चुनाव आने वाले हैं, ऐसे में सभी पार्टियों ने उत्तर प्रदेश में ताकतें झोंकनी शुरू कर दी है. इस क्रम में कांग्रेस महसचिक प्रियंका गांधी जहाँ यूपी दौरे पर किसानों से मिल रही हैं वहीं दूसरी ओर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शामली के दौरे पर हैं. इस दौरान उन्होंने कैराना में आए हिंदू शरणार्थियों से मुलाक़ात की.

कैराना पलायन भाजपा के लिए अस्मिता का मुद्दा

कैराना में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज जनसभा स्थल के मंच से 426 करोड़ की 114 परियोजनाओं का शिलान्यास व लोकार्पण किया. इस दौरान उन्होंने ये भी कहा कि कैराना से हिन्दुओं का पलायन और मुज्जफ्फरनगर के दंगे भारतीय जनता पार्टी के लिए राजनीतिक मुद्दा नहीं है, यह अस्मिता का मुद्दा है. उन्होंने आगे कहा कि, जब मुज्जफ्फरनगर में दंगाई मारे जाते हैं तब लोगों को दुख होता है, लेकिन हिन्दुओं की मौत पर राजनीति शुरू हो जाती है. सीएम योगी आदित्यनाथ ने यह भी कहा कि उनकी सरकार के शाशनकाल में सभी सुरक्षित है. भारतीय जनता पार्टी लोगों को सुरक्षा की गारंटी देती है.

डरने की ज़रूरत नहीं है, बाबा के साथ बैठी हो – सीएम योगी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज सुर्ख़ियों में बने हुए हैं, उनके सुर्ख़ियों में बने होने की वजह और कुछ नहीं बल्कि उनका शामली दौरा है. आज मुख्यमंत्री ने कैराना में हिन्दू शरणार्थियों में मुलाक़ात की. इस दौरान उन्होंने एक छोटी बच्ची से बात करते हुए उससे कहा- “डरो मत, तुम बाबा के बगल में बैठी हो”, इसके बाद बच्ची योगी आदित्यनाथ से कहती है कि अब दर नहीं लग रहा है.

परिवारों से मिलने के बाद क्या बोले सीएम योगी

सीएम योगी की यह मुलाक़ात आज सुर्खियां बटोर रही है. कैराना में हिन्दू परिवारों से मिलने के बाद सीएम योगी ने कहा कि, अब शामली जिले और कैराना कस्बे की स्थिति बदली है. उन्होंने कहा कि हमने तय किया है कि सपा शासन के दौरान हिंसा के शिकार लोगों को मुआवाजा दिया जाएगा और अपराधियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

यह भी पढ़ें :’

Wankhede family attacks nawab mallik: पिता, पत्नी और साली के बीच फंसे नवाब मलिक

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर