नई दिल्लीः शुक्रवार को भारतीय न्यायपालिका के इतिहास में पहली सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ जजों ने सुप्रीम कोर्ट में अनियमत्ताओं को लेकर सवाल उठाए थे. इस घटना के बाद मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा ने शुक्रवार को मीडिया के सामने आने की बात कही थी लेकिन ऐसा नहीं हुआ. जबकि आज यानी शनिवार को सीजीआई की सुप्रीम कोर्ट के जजों के साथ मुलाकात की चर्चा है. इस मामले में बार एसोसिएशन ने एक बैठक भी बुलाई है. कयास लगाए जा रहे है इस बैठक में विवाद सुलझ सकता है. सुत्रों की मानें तो मुख्य सीजीआई दीपक मिश्रा सुप्रीम कोर्ट के दूसरे जजों के साथ घर पर मुलाकात कर सकते हैं

सुप्रीम कोर्ट के चार वरिष्ठ जजों द्वारा देश के मुख्य न्यायाधीश पर उठाए गए सवाल को लेकर अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल ने भी सुलह के संकेत दिए हैं. उन्होंने कहा कि इस मामले को शनिवार तक सुलझा लिया जाएगा. उनका कहना है कि सुप्रीम कोर्ट के जज अपने मतभेज 13 जनवरी तक सुलझा सकते हैं. साथ ही उन्होंने कहा कि 4 जजों की प्रेस कॉन्फ्रेंस को भी टाला जा सकता था. लेकिन सुप्रीम कोर्ट के सभी जज काफी अनुभवी और कुशल है उम्मीद है कि शनिवार तक इस मसले को सुलझा लिया जाएगा.

बता दें कि शुक्रवार को देश के सर्वोच्च न्यायालय के चार जजों जे. चेलमेश्वर, रंजन गोगोई, मदन लोकुर और कुरियन जोसफ ने सुप्रीम कोर्ट की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाए थे. प्रेस कॉन्फ्रेंस कर उन्होंने कहा था कि सुप्रीम कोर्ट का प्रशासन ठीक तरह से काम नहीं कर रहा है. हमने चीफ जस्टिस से इस बारे में मुलाकात भी की है. उन्‍होंने कहा कि चीफ जस्टिस से कई गड़बडि़यों की शिकायत की थी, जिन्‍हें ठीक किए जाने की जरूरत है. आज सुबह भी हम चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा से मिले थे.

यह भी पढ़ें- सुप्रीम कोर्ट के 4 जजों की चीफ जस्टिस के खिलाफ बगावत, राहुल गांधी बोले- आरोप बेहद गंभीर

महाबहस: आखिर सुप्रीम कोर्ट के चार जजों ने चीफ जस्टिस के खिलाफ क्यों की खुली बगावत?