कोलकाता. वरिष्ठ कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को सांप्रदायिक राजनीति के लिए दोषी ठहराया है. लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने नागरिकता संशोधन विेधेयक के खिलाफ पश्चिम बंगाल में जारी हिंसक प्रदर्शन पर तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी पर निशाना साधा है. अधीर चौधरी ने बुधवार को मुर्शिदाबाद में CAA प्रदर्शन के दौरान क्षतिग्रस्त हुए रेलवे स्टेशनों का जायजा लिया. उन्होंने आम जनता से सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान न पहुंचाने की अपील की.

अधीर रंजन चौधरी ने बताया कि पश्चिम बंगाल में भाजपा की जड़े जमाने के पीछे ममता बनर्जी का ही हाथ है. 1998 में अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में ममता रेल मंत्री बनी थीं और भाजपा को बंगाल में लेकर आई थीं. यह सच्चाई है और इससे वे मुंह नहीं मोड़ सकती हैं.

अधीर रंजन ने कहा कि पश्चिम बंगाल में साम्प्रदायिक राजनीतिक की शुरुआत सीएम ममता बनर्जी ने ही की है. अभी नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में राज्य में जो हिंसक प्रदर्शन हो रहे हैं, रेलवे स्टेशनों और अन्य जगहों पर तोड़-फोड़ और आगजनी हो रही है, उसकी जिम्मेदार खुद मुख्यमंत्री हैं.

चौधरी ने सवाल उठाए कि जब प्रदर्शनकारी रेलवे स्टेशनों पर तोड़फोड़ कर रहे थे तब जीआरपी कहां थी. रेलवे स्टेशनों पर कानून व्यवस्था बनाए रखने की जिम्मेदारी जीआरपी के पास होती है. और इसका नियंत्रण राज्य सरकार के पास है.

अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि सीएम ममता बनर्जी रेलवे को हुए इस नुकसान की जिम्मेदार हैं, उन्हें इसका जवाब देना चाहिए. मगर वह बंगाल के लोगों को भ्रम में डाल रही हैं. इससे उनकी राजनीतिक मंशा साफ जाहिर हो रही है.

ये भी पढ़ें-

CAA Unrest: सौरव गांगुली की बेटी सना गांगुली ने साधा बीजेपी सरकार और संघ पर निशाना

नागरिकता संशोधन कानून की विरोध रैली में गृहमंत्री अमित शाह पर बरसीं वेस्ट बंगाल सीएम ममता बनर्जी, कहा- आपने सबके साथ सर्वनाश कर दिया

अभिनेता फरहान अख्तर ने किया नागरिकता कानून का विरोध, IPS अधिकारी ने कहा- एक्टर ने तोड़ा कानून

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर