नई दिल्ली. यूएई से अगस्ता वेस्टलैंड डील के आरोपी बिचौलियो क्रिश्चियन मिशेल का प्रत्यर्पण करवाया गया. उसका प्रत्यर्पण करवाने के लिए भारतीय अधिकारियों को बदले में दुबई के शासक की बेटी को सौंपना पड़ा. दुबई के शायक की बेटी पिछले साल समुद्र के रास्ते से दुबई से भाग निकली थी. समुद्र में भारत के नजदीक पहुंचने पर उसे भारतीय नौसेना अधिकारियों ने पकड़ लिया. हाल ही में एक ब्रिटिश अखबार ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया है कि भारत ने दुबई के शासक की बेटी प्रिंसेज लतीफा को क्रिश्चियन मिशेल के बदले यूएई को सौंप दिया.

इस रिपोर्ट में नई दिल्ली के यूरोपीय और एशियाई सूत्रों के हवाले से दावा किया गया है कि इस एक्सचेंज डील के लिए भारत ने पहल की थी. यहां तक की मिशेल की कानूनी टीम के एक सदस्य ने भी इसकी आशंका जताई है. वहीं रिपोर्ट के मुताबिक प्रिंसेज लतीफा अपनी दोस्त टीना जोहियानेने के साथ पिछले साल फ्रेंच इंटेलिजेंस के जासूस की मदद से याट में बैठकर दुबई से समुद्र के रास्ते भागी थी. राजकुमारी ने दुबई से निकलने के लिए अपना भेष भी बदला था.

कहा जा रहा है कि प्रिंसेज लतीफा मनोरोगी है और उसे रोज दवाओं के भारी डोज दिए जाते हैं. उसे दुबई से भागने के बाद आखिरी बार 5 मार्च को एक नाव में अमीरात और भारतीय नौसेना के अफसरों के साथ देखा गया था. बता दें कि क्रिश्चियन मिशेल पर रक्षा सौदों में वायुसेना और रक्षा मंत्रालय के बीच बिचौलिए की भूमिका निभाने का आरोप है. आरोप है कि मिशेल को वायुसेना और रक्षा मंत्रालय के अफसरों से सूचनाएं मिलती थीं जिन्हें वो इटली और स्विट्जरलैंड फैक्स के जरिए भेजता था ताकि रक्षा सौदे उनकी मर्जी की कंपनी को मिले.

Jallikattu 2019: पोंगल उत्सव पर शुरू हुआ पांरपरिक जल्लीकट्टू का खेल, देखें वीडियो

Union Budget 2019: आम चुनाव से पहले मध्यम वर्ग को लुभाने के लिए मोदी सरकार का बड़ा दांव, 5 लाख रुपए हो सकती है आयकर छूट सीमा

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App