ईटानगरः भारत का पड़ोसी देश चीन भले ही मित्रता की पहल की तमाम कोशिशें करता हो लेकिन वह कभी अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आता. चीन ने एक बार फिर अरूणाचल प्रदेश स्थित सीमा से भारत में घुसपैठ की कोशिश की. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, चीनी सैनिक एक बार फिर भारतीय सीमा में करीब 200 मीटर अंदर तक घुस आए. इतना ही नहीं, चीनी सैनिक अपने साथ सड़क बनाने वाली मशीनें और अन्य उपकरण लेकर भारत में घुसे थे. भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) ने उन्हें रोक लिया, जिसके बाद चीनी सैनिक सीमा पार वापस लौट गए.

चीनी सैनिक दिसंबर माह के आखिरी दिनों में सीमा पार करते हुए सिआंग जिले के सीमावर्ती गांव में घुस गए थे. स्थानीय लोगों के अनुसार, जैसे ही आईटीबीपी अधिकारियों को इसकी सूचना मिली उन्होंने फौरन सिआंग नदी के किनारे (टुटिआंग सब-डिविजन) बिसिंग गांव के पास चीनी सैनिकों को रोक दिया. मंगलवार को रक्षा अधिकारियों ने मीडिया में इस खबर की पुष्टि की. रक्षा विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि चीनी सैनिकों के घुसपैठ के दौरान दोनों देशों के सैनिकों के बीच कुछ विवाद नहीं हुआ लेकिन चीनी सैनिक सड़क बनाने वाली जो मशीनें और अन्य सामान साथ लाए थे, उसे वहीं छोड़कर सीमा पार लौट गए. सेना ने सभी मशीनें और सामान जब्त कर लिया है.

रक्षा अधिकारी ने बताया कि हाल के समय में चीन सीमा पार सड़क बनाने के काम में काफी तेजी दिखा रहा है. मिली जानकारी के मुताबिक, यह घुसपैठ लगभग उस समय हुई जब दिल्ली में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल और उनके चीनी समकक्ष यांग जिएची के बीच दिल्ली में मुलाकात हो रही थी. इस मुलाकात में जल्द से जल्द सीमा विवाद को सुलझाने और शांति के लिए विश्वास बहाली के प्रयास पर जोर देने की बात कही गई. गौरतलब है कि चीन की तरफ से यह घुसपैठ डोकलाम विवाद सुलझने के करीब चार महीने बाद की गई है. डोकलाम विवाद के समय एशिया के दो परमाणु शक्ति संपन्न देश आमने-सामने आ गए थे. दो महीनों से भी ज्यादा दिनों तक दोनों देशों के बीच यह गतिरोध चला था. जिसके बाद अगस्त में यह विवाद खत्म हुआ. डोकलाम एक ट्राई-जंक्शन है, जहां भारत, चीन और भूटान की सीमा मिलती है.

 

डोकलाम: फिर बढ़ेगी भारत-चीन के बीच तनातनी, 1800 चीनी सैनिकों ने डाला डेरा

 

 

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App