चमोलीः पड़ोसी देश चीन ने एक बार फिर अपने नापाक इरादे दिखाते हुए भारतीय सीमा में घुस कर अतिक्रमण करने की कोशिश की है. जिसमें इस बार चीन की पीपल्स लिबरेशन आर्मी ने उत्तराखंड के चमोली में सीमा से सटे गांव बाराहोती में लगभग 4 किलोमीटर तक प्रवेश किया है. इससे पहले अगस्त में चीन के सैनिक 3 बार भारत की सीमा में घुसने की कोशिश कर चुके हैं. रिपोर्ट्स के मुताबिक भारतीय सेना की जवाबी कार्रवाई के बाद चीनी सैनिकों को वहां से तुरंत ही वापस लौटना पड़ा गया था. लेकिन रक्षा विशेषज्ञों की माने तो चीन डोकलाम के बाद एक नया विवाद खड़ा कर भारत को घेरना चाहता है.

मिली जानकारी के मुताबिक इससे पहले अगस्त महीने में चीन की सेना ने तीने बार वास्तविक नियंत्रण रेखा को पार करते हुए तीन बार भारत में प्रवेश किया था जिसमे वह उत्तरखंड के जंगलों में कई किलोमीटर तक अंदर घुस आए थे. आईटीबीपी सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक चीन की सेना ने अगस्त महीने में 6, 14 और 15 अगस्त को उत्तराखंड के रिमखिम पोस्ट के नजदीक घुसैपठ करी थी. इन तीन घटनाओं में चीनी सैनिक लगभग 4 किलोमीटर तक अंदर घुस आए थे.

बता दें कि पिछले साल भी चीन की सेना ने भारतीय सीमा में दाखिल होने का प्रयास किया था जिसमें वह वास्तविक नियंत्रण रेखा को पार करते हुए एक किलोमीटर अंदर तक दाखिल हो गए थे. इसके अलावा चीन की सेना ने अब तक सबसे बड़ी घुसपैठ डोकलाम में की थी जिममें उन्होंने सिक्किम और भूटान की सीमा पर डोकलाम में कई महीनों तक अपना डेरा जमा रखा था जिसके बाद भारत ने इसका विरोध किया था और 70 दिनों की लंबी अवधि के बाद ये विवाद सुलझ सका था.

 बॉब वुडवर्ड की किताब में बोले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप- भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मेरे अच्छे दोस्त

डोकलाम गतिरोध के एक साल बाद अब लद्दाख के 400 मीटर क्षेत्र में चीनी सैनिकों की घुसपैठ