Chinese Army Back Off From LAC: हिंदुस्तान की जमीन पर कब्जा करने की मंशा लेकर लद्दाख बॉर्डर पर आए चीन की साजिश को भारत ने नाकाम कर दिया है. हालांकि सरकार से जुड़े सूत्रों के मुताबिक सेना पूरी तरह सतर्क है और एलएसी पर चीन की हर गतिविधि पर करीबी नजर बनाए हुए है. बात युद्ध स्तर की हो या फिर आर्थिक मोर्चेबंदी की, भारत ने चीन को ऐसा घेरा की चीन भारत की जमीन खाली कर पीछे हटने पर मजबूर हो गया.

खबर है कि चीन भारत की जमीन से दो किलोमीटर पीछे हट गया है. अंग्रेजी अखबार द हिंदू की रिपोर्ट के मुताबिक चीनी सैनिक पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में जिस पोजिशन पर कब्जा किए हुए थे उसे छोड़कर दो किलोमीटर पीछे हट गए हैं. चीनी सैनिकों ने वो जगह खाली कर दी है जहां 15 जून को हिंसक घटना हुई थी जिसमें हमारे 20 जवान शहीद हो गए थे.

15 जून की हिंसक घटना के बाद चाइनीज पीपल्स लिब्रेशन आर्मी यानी पीएलए के सैनिक उस जगह से इधर आ गए थे जो भारत के मुताबिक एलएसी है. चीन को .के लिए भारत ने भी अपनी मौजूदगी को उसी अनुपात में बढ़ाते हुए बंकर और अस्थायी ढांजे तैयार कर लिए थे. भारतीय सेना भी चीनी सेना की आंखों में आंखें डालकर खड़ी थी.

गौरतलब है कि 15 जून की हिंसक घटना के बाद से भारत ने 3,488 किलोमीटर वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर अपने विशेष युद्ध बलों को तैनात किया है, जो कि चीनी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के पश्चिमी, मध्य या पूर्वी सेक्टरों में किसी भी प्रकार के हमले से जूझ सकते हैं. शीर्ष सरकारी सूत्रों ने पुष्टि की है कि भारतीय सेना को पीएलए द्वारा सीमा पार से किसी भी हरकत का आक्रामकता से एलएसी पर जवाब देने का निर्देश दिया है. पिछले दिनों पीएम नरेंद्र मोदी भी जवानों का हौसला बढ़ाने लद्दाख गए थे जिसके बाद से जवानों का हौसला भी बिलकुल बुलंद है.

Rajnath Singh Warns China: राजनाथ सिंह की चीन को चेतावनी- अस्पताल हो या बॉर्डर, तैयारी में हम कभी पीछे नहीं रहते

Kolkata Airport Suspend Flight: कोलकाता एयरपोर्ट पर दिल्ली समेत इन 6 शहरों की फ्लाइट्स की लैंडिंग पर लगी रोक

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर