नई दिल्लीः डोकलाम के बाद अब चीन ने लद्दाख में घुसपैठ की है. चीन ने डोकलाम के बाद अब 4,057 किमी. के लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल यानी एलएलसी के कई जगहों पर अतिक्रमण किया है. इस बार चीन ने यह हरकत लद्दाख के डेमचोक सेक्टर में हुई. इस क्षेत्र में चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) ने भारतीय सीमा में 300 से 400 मीटर तक घुसपैठ कर 5 टेंट भी लगा दिए. हालांकि सूत्रों के मुताबिक दोनों सेनाओं की ब्रिगेडियर स्तर पर हुई बातचीत के बाद चीन की आर्मी पीएलए ने तीन टेंट तो हटा लिए हैं लेकिन दो टेंट अभी भी मौजूद हैं. 

सूत्रों की मानें तो पीएलए के सैनिकों ने जुलाई के पहले हफ्ते में भारतीय सीमा में घुसपैठ की. भारतीन सेना के बार-बार कहने पर भी वे वापस नहीं लौटे. जिसके बाद एलसी पर टकराव की स्थिति ना बनें इसके लिए भारत के सैनिकों ने बैनर ड्रिल भी की. बैनर ड्रिल का मतलब उन्हें झंडे दिखाकर चीन लौट जाने के लिए कहा. लेकिन उसके बाद भी चीनी सैनिक अपनी हरकतों से बाज नहीं आए. 

साथ ही ऐसी भी खबरें हैं कि चीनी सैनिकों ने लद्दाख प्रशासन की नेरलोंग इलाके में सड़क बनाने की शिकायत भी की. आपको बता दें कि डेमचोक उन 23 संवेदनशील इलाकों में आता है जिनकी एलसी पर पहचान हुई है. यह इलाका पूर्वी लद्दाख से अरुणाचल प्रदेश तक फैला हुआ है. यहां अक्सर दोनों सेनाओं के बीच गतिरोध बना रहता है इसकी वजह है अनसुलझी सीमा को लेकर अलग-अलग धारणाएं. दोनों सेनाएं एक दूसरे पर अतिक्रमण करने का आरोप लगाती रहती हैं. 

यह भी पढ़ें- चीनी मीडिया का दावा: चीन में छप रहे भारत के करेंसी नोट, आरबीआई ने बताया झूठ

इंटरव्यू में बोले पीएम नरेंद्र मोदी- हमने बातचीत से चीन का मुद्दा सुलझाया, 2017 में 70 लाख नए रोजगार पैदा हुए

 

 

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App