मुंबई: हम सब चाहते हैं कि हमारे बच्चों को जो दुनिया देखने को मिले वो हमसे अच्छी हो. हम अगली पीढ़ी को वो सबकुछ देना चाहते हैं जो हमें नहीं मिला. इसी उद्देश्य को पूरा करने के लिए छोटी सी आशा नाम से ऑनलाइन फंड रेजिंग कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है. रोटरी इंडिया, रोटरी क्लब ऑफ बॉम्बे और विजक्राफ्ट इंटरनेशनल के सौजन्य से आयोजित होने वाले इस कार्यक्रम में जाने-माने कलाकारों द्वारा एक से बढ़कर एक पर्फॉर्मेंस होगी साथ ही साथ वो बच्चों की शिक्षा, स्वास्थ्य और पढ़ाई के लिए लोगों से आर्थिक मदद करने की अपील भी करेंगे. कोरोना काल में बच्चों के स्वास्थ्य, शिक्षा और संपूर्ण पोषण को पूरा करने के उद्देश्य से इस कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है.

28 जून को कई मीडिया प्लेटफॉर्म पर छोटी सी आशा कार्यक्रम का प्रसारण होगा जो करीब 3 से 4 घंटे तक चलेगा. इस दौरान देश की कई जानी-मानी हस्तियां सिंगिंग, डांसिंग, कॉमेडी और पोइट्री के जरिए लोगों का ना सिर्फ मनोरंजन करेंगी बल्कि उन बच्चों के लिए लोगों से आर्थिक मदद भी मांगेंगी जिन्हें हमारे और आपके सहारे की जरूरत है. यही नहीं, इस कार्यक्रम में उन लोगों की सच्ची कहानियों को भी दिखाया जाएगा जिनके मानवीय प्रयासों से समाज में बदलाव आया है. इसके अलावा छोटी सी आशा कार्यक्रम में उन कोरोना योद्धाओं की कहानियां भी दिखाई जाएगी जिनके प्रयासों ने एक बार फिर हर परिस्थिति में हमारी एकता और अखंडता को साबित और नए सिरे से परिभाषित किया है.

Let's make the future of underprivileged children better together 👧👦Come be a part of #ChhotiSiAsha – a fundraiser by Rotary India, Rotary Club of Bombay and Wizcraft to make this happen 👍#RotaryIndia #RotaryFoundation #RotaryClubOfBombay Wizcraft

Posted by IIFA Awards on Tuesday, June 9, 2020

रोटरी इंटरनेशनल प्रेसिडेंट नॉमिनी शेखर मेहता ने कहा कि रोटरे भारत में अपने 100 साल के सफर का जश्न मना रहा है इसलिए शिक्षा, स्वच्छ पानी, सेनेटाइजेशन, हेल्थ, एनवायरमेंट और डिजास्टर मैनेजमेंट जैसे विषय भी हमारी प्राथमिक्तों में शामिल हुए हैं. उन्होंने कहा कि हमारा कोविड-19 से जुड़ा काम करीब 200 करोड़ का है जिसमें से 105 करोड़ रूपये पीएम केयर फंड में दिए गए हैं. उन्होंने कहा कि बिल्डिंग द नेशन प्रोग्राम के तहत रोटरी इंडिया ने भारत सरकार के साथ साझेदारी की है जिसमें पहली क्लॉस से बारहवीं तक पढ़ाई करने वाले करोड़ों छात्र-छात्राओं को ऑनलाइन कंटेंट मुहैया करवाया जा सके.

Coronavirus Latest updates: कोरोना से बेकाबू होते जा रहे हालात, चार दिन में बढ़े कोरोना के 50 हजार से ज्यादा मामले

Fact Check: 55 साल से ज्यादा उम्र वाले 5 लाख केंद्रीय कर्मचारियों को नौकरी से निकाला जा रहा है? जानिए क्या है सच

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर