रायपुर. छत्तीसगढ़ कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष और आदिवासी नेता रामदयाल उइके शनिवार को बीजेपी में शामिल हो गए. इस दौरान बीजेपी चीफ अमित शाह और सीएम रमन सिंह भी मौजूद थे. नवंबर में होने वाले छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनावों से पहले इसे राहुल गांधी के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है. रामदयाल पाली तानाखार से विधायक हैं और पिछले 18 सालों से कांग्रेस से जुड़े हुए थे. आइए आपको रूबरू कराते हैं रामदयाल उइके से. 

कौन हैं रामदयाल उइके? 

पाली तानाखार से कांग्रेस के विधायक रामदयाल उइके छत्तीसगढ़ में बड़ा नाम रहे हैं. साल 1998 में जब छत्तीसगढ़ नहीं बना था तब उइके मध्यप्रदेश में मरवाही सीट से भाजपा के विधायक रहे थे. फिर जब छत्तीसगढ़ बना तो तत्कालीन सीएम अजीत जोगी के उप चुनाव लड़ने के लिए उन्होंने अपनी सीट छोड़ दी थी और कांग्रेस में शामिल हो गए थे. ऐसे में बीजेपी में शामिल होना उनकी घर वापसी के रूप में देखा जा रहा है.

बता दें कि हाल ही में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी छत्तीसगढ़ दौरे पर आए थे तो विधायक होने के बाद भी उइके को मंच पर जगह नहीं मिली थी. इसके बाद विधानसभा चुनाव के मद्देनजर राज्य में कांग्रेस की ओर से बनाई गई 7 सदस्यीय स्क्रीनिंग कमेटी में उइके का नाम नहीं था. इससे भी वे नाराज थे. जिसे उनके पार्टी छोड़ने की वजह के रूप में देखा जा रहा है.

गौरतलब है  कि इस साल मध्य प्रदेश, मिजोरम, तेलंगाना, राजस्थान के अलावा छत्तीसगढ़ में भी जल्द विधान सभाचुनाव होेने हैॆ . छत्तीसगढ़ में 12 नवंबर पहले चरण में 18 सीटों पर को मतदान होने हैं  और इसके बाद दूसरे चरण में 72 विधानसभा क्षेत्रों में 20 नवंबर को चुनाव होंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App