नई दिल्ली. भारत चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव के सबसे करीब पहुंचने वाला पहला राष्ट्र बनकर इतिहास रचने वाला है क्योंकि मून मिशन के तहत चंद्रयान 2 का विक्रम लैंडर आज मध्यरात्रि के बाद चांद की सतह पर उतरने वाला है. पीएम नरेंद्र मोदी ने इसरो को शुभकामनाएं दी हैं और कहा है कि इस ऐतिहासिक पल का पूरा देश बेसब्री से इंतजार कर रहा है. वहीं पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बवर्जी ने कहा कि केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार आर्थिक मंदी से लोगों का ध्यान भटकाने के लिए मिशन चंद्रयान 2 का सहारा ले रही है.

यहां बता दूं कि विक्रम जो अपने ऑर्बिटर से पहले ही अलग हो गया है शनिवार को तड़के 1:30 से 2:30 के बीच विक्रम लैंडर चंद्रमा की सतह पर उतरेगा और फिर कुछ समय बाद प्रज्ञान रोवर चंद्रमा पर जिंदगी की संभावनाएं तलाशेगा कि चांद की सतह पर पानी है या नहीं. भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन, इसरो ने कहा कि रोवर प्रज्ञान सुबह 5:30 बजे से सुबह 6:30 बजे के बीच चंद्रमा लैंडर से निकलेगा. यह चांद के संसाधनों की पूरी तरह से मैपिंग करके, पानी की मौजूदगी की तलाश और साथ ही उच्च-रिजॉल्यूशन छवियों को क्लिक करेगा. अंतरिक्ष एजेंसी के अध्यक्ष के सिवान ने चंद्रयान 2 को इसरो का सबसे जटिल मिशन कहा है.

हां पढ़ें Chandrayaan 2 Moon Landing Live Updates:

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App