नई दिल्ली. हाल ही में जेल से रिहा हुए भीम आर्मी के मुखिया चंद्रशेखर उर्फ रावण ने साल 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा को उखाड़ फेंकने की बात कही है. सहारनपुर दंगो में सजा काटने के बाद जेल से निकलकर छुटमलपुर में जब चंद्रशेखर समर्थकों से मिलने के लिए घर से निकले तो उनके इंतजार में खड़ी भीड़ को संबोधित करते हुए बोले- कि हमारा मुख्य उद्देश्य बीजेपी को सत्ता से उखाड़ फेंकना है और इसके लिए हम संवैधानिक तरीके से लड़ेंगे. उन्होंने कहा कि साल 2019 के चुनाव में हम ‘महागठबंधन’ को अपना समर्थन देंगे.

साथ ही बसपा प्रमुख मायावती को लेकर वे बोले कि- उन्होंने कांशीराम जी के साथ काफी संघर्ष किया है अब हमारी बारी है कि हम अपने समुदाय और समाज के लिए कुछ करें. हमारा काम है कि हम अपने समुदाय के लोगों को शिक्षा के लिए प्रेरित करें. मायावती को बुआ बताते हुए उन्होंने कहा कि हमारा लक्ष्य भाजपा को हराना है न कि अपनी बुआ के बारे में भला बुरा कहना. उन्होंने आगे कहा कि मायावती को मुझसे कोई शिकायत हो सकती है लेकिन मेरी ओर से ऐसा कुछ नहीं है, हमारी रगों में एक ही खून है.

बता दें कि गुरुवार को उत्तर प्रदेश की सरकार ने चंद्रशेखर के ऊपर से राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम हटा लिया था. चंद्रशेखर पिछले 6 महीने से सहारनपुर जेल में हैं. उनपर सहारनपुर में ठाकुरों और दलितों के बीच दंगे कराने का आरोप है.

जेल से आजाद होकर गरजे चंद्रशेखर रावण, बोले- मेरी लड़ाई बीजेपी के गुंडों से, 2019 में इन्हें सत्ता से उखाड़ फेंकेंगे

दो महीने पहले ही भीम आर्मी के मुखिया चंद्रशेखर रावण को योगी आदित्यनाथ सरकार ने किया आजाद, हटाई रासुका

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर