नई दिल्ली, साल का पहला चंद्रग्रहण 16 मई को लगने वाला है. ज्योतिषाचार्यों के अनुसार, यह चंद्रग्रहण वैशाख पूर्णिमा पर विशाखा नक्षत्र और वृश्चिक राशि में लगने वाला है. इस दिन बुद्ध पूर्णिमा भी लग रही है, बुद्ध पूर्णिमा और चंद्र ग्रहण दोनों परिघ योग में लगने वाले हैं. ज्योतिषाचार्यों का कहना है कि 80 सालों बाद बनने ग्रह-नक्षत्रों का ऐसा संयोग बनने जा रहा है, 80 साल बाद बनने वाले इस संयोग से इन राशियों के लोगों को संभलकर रहने की सलाह दी जाती है.

कर्क-

साल के पहले चंद्रग्रहण पर कर्क राशि वालों को संभलकर रहना चाहिए, इस दौरान कर्क राशि के जातकों को संतान से जुड़ी समस्याएं हो सकती हैं. बच्चों के करियर और स्वास्थ्य के लिहाज से यह ग्रहण उनके लिए शुभ नहीं है. इस दौरान कर्क राशि वालों के खर्चे बढ़ सकते हैं और उन्हें धन संचय करने में दिक्कत आ सकती है.

तुला-

साल के पहले चंद्रग्रहण पर तुला राशि वालों को थोड़ा सावधान रहने की ज़रूरत है, ये ग्रहण आपके लिए बहुत ज्यादा उत्साह हानिकारक साबित हो सकता है. इस दौरान आंख बंदकर किसी व्यक्ति पर विश्वास करना आपके लिए नुकसानदायक साबित हो सकता है. आप अपनी वाणी पर संयम रखें और किसी पर टिप्पणी करने से पहले अच्छे से विचार कर लें. इस दौरान किसी बड़ी प्रॉपर्टी में निवेश करने से बचें और यदि आप ऐसा करने की सोच रहे हैं तो अपने शुभचिंतकों से सलाह-मश्वरा ज़रूर कर लें.

धनु-

धनु राशि के वालों की चंद्र ग्रहण के दौरान मुश्किलें बढ़ सकती हैं. कोर्ट-कचहरी के मामलों में दिक्कतें आ सकती हैं. वर्कप्लेस पर आपकी छवि भी खराब हो सकती है. वाणी पर संयम न बरतने से कोई बड़ा नुकसान हो सकता है, आप मानसिक तनाव का शिकार भी हो सकते हैं, साथ ही आर्थिक तंगी आपको घेर सकती है.

मकर-

मकर राशि वालों के लिए यह चंद्र ग्रहण शुभ नहीं है, आपकी राशि के स्वामी शनिदेव हैं इसलिए ग्रहण के दौरान इस राशि के जातक शनि की साढ़े साती से पीड़ित हो सकते हैं. ग्रहण काल के दौरान मकर राशि के जातकों को सावधान रहने की सलाह दी जाती है. जल्दबाजी में लिए फैसले आप पर भारी पड़ सकते हैं.

 

दिल्ली: मुंडका अग्निकांड में अब तक 27 लोगों की मौत, NDRF का बचाव अभियान जारी

SHARE

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर