CDS Rawat Helicopter crash

नई दिल्ली. CDS Rawat Helicopter crash भारतीय वायुसेना ने बताया कि सीडीएस बिपिन रावत समेत 14 जवान जिस हेलिकॉप्टर हादसे में शहीद हुए थे उस घटना की जांच के बाद शुरुआती जानकरी सामने आ गई है. ट्राई-सर्विस जांच दल ने अपने शुरुआती नतीजों में फ्लाइट डेटा रिकॉर्डर और कॉकपिट वॉयस रिकॉर्डर का एनालिसिस किया, जिसमे यह पता लगा है कि सीडीएस का हेलिकॉप्टर Mi-17 V5 किसी तकनीकी दिक्कत या लापरवाही से क्रैश नहीं हुआ था बल्कि इसके पीछे खराब मौसम था.

आईएएफ ने बताया कि प्रारम्भिक जांच में यह पता लगा है कि 8 दिसंबर को घाटी में ख़राब मौसम होने की वजह से हेलिकॉप्टर बदलो के बीच फस गया और पायलट दिशा से भटक गया. आसमान में ऊंची जगह पर होने की वजह से पायलट ने दिशा को बदला और इसी के चलते हेलिकॉप्टर अनियंत्रित होकर ज़मीन से टकरा गया. इस घटना की सटीक जानकारी के लिए जांच दल ने घटनस्थल पर मौजूद लोगों से भी पूछताछ की है और इसी के आधार पर नतीजों तक जांच पंहुचा है.

आठ दिसंबर को हुआ था हादसा

बता दें कि 8 दिसंबर को सीडीएस बिपिन रावत उनकी पत्नी मधुलिका और 12 सेना के जवान सुलूर एयरबेस से वेलिंगटन एयरबेस के लिए हेलिकॉप्टर में रवाना हुए थे. लेकिन हेलिकॉप्टर गंतव्य तक पहुंचने से मात्र 7 मिनट पहले ही क्रैश हो गया और उसमें सवार सभी 14 लोग शहीद हो गए

यह भी पढ़ें:

UP Assembly Election: कांग्रेस ने जारी की पहली लिस्ट, 125 प्रत्याशियों में से 50 महिलाएं

Resignation Continues in BJP : भाजपा में इस्तीफों का दौर जारी, शिकोहाबाद से विधायक ने भी छोड़ी पार्टी

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर