तमिलनाडु, तमिलनाडु के कुन्नूर में सेना का हेलीकॉप्टर बुधवार को दुर्घटनाग्रस्त हो गया. इस हेलीकॉप्टर में CDS विपिन रावत, उनकी पत्नी समेत सेना के 14 शीर्ष अधिकारी सवार थे. इस हादसे में CDS विपिन रावत समेत 13 लोगों का निधन ( CDS Bipin Rawat Demise  ) हो गया. सीडीएस बिपिन रावत और उनकी पत्नी मधुलिका समेत 13 लोगों की इस हादसे में मौत हो गई. सीडीएस की मौत से पूरा देश गमगीन है.

बेटियां हुईं अनाथ

सीडीएस जनरल बिपिन रावत के निधन से पूरे देश में शोक की लहर छा गई है. पूरा देश आज अपने पहले सीडीएस को ग़मगीन आँखों से श्रद्धांजलि दे रहा है. आज सीडीएस बिपिन रावत अपनी पत्नी मधुलिका के साथ वेलिंगटन में एक कार्यक्रम में शामिल होने जा रहे थे, जिस दौरान कुन्नूर के घने जंगलों में उनका विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया. जनरल बिपिन रावत की दो बेटियां हैं, इस हादसे से उनकी बेटियों के सर से माँ-बाप का साया ( CDS Bipin Rawat Demise ) उठ गया है. सीडीएस जनरल बिपिन रावत की एक बेटी का नाम कृतिका रावत था.

उत्तराखंड के थे CDS बिपिन रावत

CDS विपिन रावत का जन्म उत्तराखंड के पौड़ी में 16 मार्च 1958 में हुआ था. उन्होंने मेरठ यूनिवर्सिटी से मिलिट्री-मीडिया स्ट्रैटेजिक स्टडीज में पीएचडी की थी. उनके पिता सेना से लेफ्टिनेंट के पद से रिटायर हुए थे. उन्होंने देश के कई हिस्सों में सेना की कमान संभालते हुए बड़े-बड़े ऑपरेशन को अंजाम दिया था. CDS विपिन रावत ने 1978 में सेना में शामिल हुए थे. उन्होंने सेकेंड लेफ्टिनेंट के रूप में आर्मी में सफर शुरू किया और अभी सीडीएस जनरल के रूप में सेवाएं दे रहे थे. विपिन रावत ने सेना में 4 दशक से ज़्यादा का समय बिताया है और इसी आधार पर उन्हें वीरता और अतिविशिष्‍ट पदको से सम्मानित भी किया चूका है.

यह भी पढ़ें:

CDS Bipin Rawat: भारतीय वायुसेना को बड़ी क्षति, नहीं रहे देश के पहले CDS बिपिन रावत

Vicky Kaushal And Katrina Kaif Wedding कैटरीना की शादी में जनता जोधपुर स्वीट्स से पंहुँची मिठाईयां