नई दिल्ली. CCS In World Best Think Tanks List: दुनिया के श्रेष्ठ थिंकटैंक्स की वर्ष 2019 की लिस्ट जारी कर दी गई है. दुनिया के श्रेष्ठ थिंकटैंक्स की इस लिस्ट में सेंटर फॉर सिविल सोसायटी (CCS) यानी सीसीएस ने अपना दबदबा एक बार फिर कायम रखा है. श्रेष्ठ सोशल पॉलिसी थिंकटैंक्स की इस लिस्ट में सीसीएस ने 52वां स्थान प्राप्त किया है. चीन भारत जापान और रिपब्लिक ऑफ कोरिया के श्रेष्ठ थिंकटैंक्स की लिस्ट में सीसीएस को 16वां स्थान मिला है.

इसके साथ ही सेंटर फॉर सिविल सोसायटी (CCS) यानी सीसीएस को विश्व के श्रेष्ठ थिंकटैंक्स (नॉन यूएस) की लिस्ट में 71वां और श्रेष्ट थिंकटैंक्स (यूएस व नॉन यूएस) की लिस्ट में 82वां स्थान मिला है. इसके साथ ही पेंसिल्वेनिया यूनिवर्सिटी द्वारा जारी किए जाने वाले प्रतिष्ठित वार्षिक ग्लोबल गो टू थिंकटैंक्स रैंकिंग 2019 में इस वर्ष दुनिया के 171 देशों के कुल 8248 थिंकटैंक्स को शामिल किया गया है.

पब्लिक पॉलिसी थिंकटैंक सेंटर फॉर सिविल सोसायटी यानी सीसीएस द्वारा वर्ष 2019 में जारी रिपोर्ट डीकंस्ट्रक्टिंग के-12 गवर्नेंस इन इंडिय को दुनियाभर के थिंकटैंक्स द्वारा प्रस्तुत श्रेष्ठ रिपोर्ट्स की सूची में शामिल किया गया है. मालूम हो कि पेंसिल्वेनिया यूनिवर्सिटी द्वारा जारी विभिन्न मानदंडों के आधार पर दुनिया के श्रेष्ठ थिंकटैंक्स की सूची हर वर्ष जारी की जाती हैं.

पेंसिल्विेनिया यूनिवर्सिटी द्वारा जारी इन मानदंडों में थिंकटैंक्स के द्वारा अपने देश में जीवन की गुणवत्ता में महत्वपूर्ण परिवर्तन, शैक्षणिक, राजनैतिक और मीडिया में अर्जित प्रतिष्ठा, एडवोकेसी कार्य व नीति निर्धारक के लिए सूचना की उपयोगिता, नई जानकारियों के उत्पादन की सक्षमता, पॉलिसी से संबंधित वैकल्पिक विचार उत्पादन, नीति निर्धारकों के लिए सूचना की उपयोगिता. नई जानकारियों के उत्पादन की सक्षमता, पॉलिसी में संबंधित वैकल्पिक विचार उत्पादन, नीति निर्धारकों व जनता के बीच की खाई को पाटने की क्षमताओं को शामिल किया जाता है. उत्कृष्ठ शोध व एडवोकेसी कार्यों के बल पर सीसीएस दुनिया के 100 श्रेष्ठ थिंकटैंक्स की सूची में पिछले 10 वर्षों से लगातार अपना स्थान बनाया है.

Shri lal shukla Literary Award 2019: महेश कटारे को मिला 2019 का श्रीलाल शुक्ल स्मृति इफको साहित्य सम्मान

Budget 2020: गरीब और मध्यम वर्ग के लिए बजट में कुछ नहीं, रोजगार को लेकर सरकार के पास कोई स्कीम नहीं