नई दिल्ली. केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने शैक्षणिक सत्र 2021-22 के लिए एक अहम फैसला लिया है। बोर्ड की ओर से जारी स्पेशल असेसमेंट स्कीम के अनुसार, इस सत्र में दो बार परीक्षा आयोजित की जाएगी। बोर्ड ने इस संबंध में सिलेस इस महीने के आखिर तक जारी कर दिया जाएगा।

सीबीएसई के निदेशक (शिक्षण) जोसेफ इमैनुएल द्वारा जारी सरकारी आदेश के अनुसार, पहले टर्म (अवधि) की परीक्षा नवंबर-दिसंबर, 2021 में होगी जबकि दूसरे टर्म की परीक्षा मार्च-अप्रैल, 2022 में होगी। उन्होंने कहा, ‘‘शिक्षण सत्र 2021-22 के लिए पाठ्यक्रम को युक्तिसंगत तरीके से दो टर्म में बांटा जाएगा, इसके लिए विषयों के विशेषज्ञों की सहायता ली जाएगी।’’

इमैनुएल ने कहा, ‘‘इन परीक्षाओं में बहुविकल्पीय वस्तुनिष्ठ प्रश्न (एमसीक्यू) होंगे, ये एमसीक्यू घटना आधारित और अन्य प्रकार के हो सकते हैं। परीक्षा का समय 90 मिनट का होगा और पहले टर्म में सिर्फ युक्तिसंगत पाठ्यक्रम से ही सवाल किए जाएंगे। प्रश्नपत्र और मूल्यांकन की योजना सीबीएसई द्वारा स्कूलों को भेजी जाएगी।’’

सीबीएसई ने कहा है कि एकेडमिक सेशन 2021-22 दो टर्म में विभाजित होगा. प्रत्येक टर्म में करीब 50-50 फीसदी सिलेबस कवर होगा। जानकारी के अनुसार सीबीएसई पहले टर्म की परीक्षाएं नवंबर-दिसंबर में आयोजित करेगा। जबकि दूसरे टर्म की परीक्षा मार्च-अप्रैल में होगी. बोर्ड ने यह भी कहा है कि शैक्षणिक सत्र 2021-22 के पाठ्यक्रम को विषय विशेषज्ञों द्वारा अवधारणाओं और विषयों के परस्पर संबंध को देखते हुए एक व्यवस्थित दृष्टिकोण का पालन करते हुए दो अवधि में विभाजित किया जाएगा।

Uttarakhand CM Pushkar Dhami First Cabinet: पहली ही कैबिनेट में एक्शन में पुष्कर सिंह धामी सरकार, अतिथि शिक्षकों का वेतन बढ़ाकर 25 हजार किया

CISCE 10th 12th Syllabus: कोरोना महामारी को देखते हुए सीआईएससीई ने साल 2022 के लिए कम किया 10वीं और 12वीं का सिलेबस

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर