नई दिल्ली. जवाहर लाल नेहरु विश्वविद्यालय (जेएनयू) के लापता छात्र नजीब अहमद का अभी तक कोई सुराग नहीं मिल पाया है. जिसके बाद खबर है कि दिल्ली हाईकोर्ट ने इस मामले में आदेश अपने पास सुरक्षित रख लिया है. वहीं सीबीआई ने हाईकोर्ट में जानकारी देते हुए कहा कि वे इस मामले में क्लोजर रिपोर्ट फाइल करना चाहती है. बता दें कि पिछले काफी समय से नजीब लापता है जिसे लेकर देश में कई बार राजनीति भी गरमा चुकी है.

मिली जानकारी के अनुसार, नजीब मामले में सीबीआई ने कोर्ट से कहा कि उन्होंने हर संभवत एंगल के साथ नजीब का पता लगाने की कोशिश की लेकिन वे नजीब को ढूंढ निकालने में नाकाम साबित हुए. ऐसे में सीबीआई इस केस में क्लोजर रिपोर्ट फाइल यानी इस केस की जांच बंद करना चाहती है. वहीं लापता नजीब अहमद की मां ने सीबीआई के द्वारा कोर्ट में दाखिल स्टेटस रिपोर्ट को देखने की मांग की है.

इसके साथ ही नजीब की मां ने अपने बेटे को ढूंढने के लिए कोर्ट से एक बार फिर जांच की मांग की है. वहीं हाईकोर्ट ने इस मामले को लेकर अपना आदेश सुरक्षित रख लिया है. गौरतलह है कि जेएनयू में पढ़ने वाला नजीब अहमद 15 अक्तूबर साल 2017 से कहीं लापता है. ऐसे में नजीब की मां ने उसे तलाशने को लेकर दिल्ली हाईकोर्ट में प्रत्यक्षीकरण याचिका दायर कर रखी है. वहीं नजीब की कई बार इंसाफ मांगने के लिए मीडिया के सामने भी आ चुकी हैं.

नजीब केसः ABVP छात्रों ने JNU में की तोड़फोड़, CBI-यूनिवर्सिटी प्रशासन पर लगाया प्रताड़ना का आरोप

JNU छात्र नजीब लापता केसः 9 छात्रों का पॉलीग्राफ टेस्ट कराना चाहती है CBI

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App