नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना पर घूस का आरोप लगाने वाले हैदराबाद के व्यापारी सतीश सना को पर्याप्त पुलिस सुरक्षा मुहैया कराने का आदेश हैदराबाद पुलिस को दिया है. सतीश सना ने सीबीआई विवाद में जांच और पूछताछ के लिए समन मिलने पर सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था और कहा था कि उसकी जान को खतरा है इसलिए सीबीआई के बदले उसे सीधे इसी मामले की सीवीसी जांच की निगरानी कर रहे रिटायर्ड जज जस्टिस एके पटनायक के सामने बयान देने की सहूलियत दी जाए. चीफ जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस यूयू ललित और जस्टिस केएम जोसेफ की बेंच ने पुलिस को सुरक्षा देने का आदेश दिया लेकिन बाकी दोनों अपील खारिज कर दी जिसका मतलब ये है कि पुलिस सुरक्षा के बीच सतीश सना को सीबीआई के समन पर पूछताछ के लिए हाजिर होना होगा.

सीबीआई के निदेशक आलोक वर्मा और स्पेशल डायरेक्टर राकेश के झगड़े में अस्थाना के खिलाफ एफआईआर का आधार बने व्यापारी सतीश सना ने सुप्रीम कोर्ट से हत्या की आशंका जताते हुए सुरक्षा और पूछताछ से छूट की मांग की थी. सना ने सुप्रीम कोर्ट से जांच पूरी होने तक अपने लिए पुलिस सुरक्षा की मांग की थी. सतीश सना हैदराबाद का वो व्यापारी है जिसकी शिकायत पर सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना के खिलाफ आलोक वर्मा के आदेश पर एफआईआर दर्ज किया गया था.

सीबीआई ने सतीश सना के बयान के आधार पर ही अपने स्पेशल डायरेक्टर अस्थाना के खिलाफ 15 अक्टूबर को केस दर्ज कर जांच शुरू की थी. स्पेशल डायरेक्टर अस्थाना ने सीबीआई डायरेक्टर आलोक वर्मा पर भी घूस लेने का आरोप लगाया था. विवाद बढ़ता देख प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार ने सीवीसी की सिफारिश पर दोनों को छुट्टी पर भेज दिया था और नागेश्वर राव को कार्यकारी निदेशक बना दिया था.

छुट्टी पर भेजने के खिलाफ आलोक वर्मा की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने 26 अक्टूबर को रिटायर्ड जस्टिस एके पटनायक की निगरानी में पूरे मामले की दो हफ्ते के भीतर जांच करने का आदेश सीवीसी को दिया था. 26 अक्टूबर को सतीश सना के घर पर सीबीआई ने पोस्टर चिपका कर उसे पूछताछ के लिए हाजिर होने का निर्देश दिया था. सना ने सुप्रीम कोर्ट में आशंका जताई है कि उसकी जान को खतरा हो सकता है इसलिये कोर्ट उसे जस्टिस एके पटनायक के सामने ही अपना बयान दर्ज कराने दे.

CBI vs CBI: सीबीआई के अंतरिम डायरेक्टर नागेश्वर राव की पत्नी ने एक कंपनी को दिया था 1.14 करोड़ का लोन, आरओसी के दस्तावेजों से खुलासा

Subramanian Swamy on P Chidambaram Joining BJP: सुब्रमण्यम स्वामी का सनसनीखेज खुलासा, कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल होना चाहते थे पी चिदंबरम, पार्टी ने मना कर दिया

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App