नई दिेल्ली. पिछले कुछ दिनों से जांच एजेंसी सीबीआई में जारी संघर्ष के बीच हर रोज नई नई आशंकाएं सामने आ रही हैं. दरअसल मामले में राजद प्रमुख लालू यादव के बेटे तेजस्वी यादव ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और सीबीआई के विशेष निदेशक राकेश अस्थाना पर जोरदार हमला करते हुए एक ट्वीट में लिखा है कि- क्या राकेश अस्थाना ने जीए से एनडीए में स्विच करने के बदले 2500 करोड़ सृजन घोटाले से नीतीश कुमार को बचाया था? सीबीआई ने अभी तक सृजन घोटाले के मुख्य अपराधियों को गिरफ्तार नहीं किया है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राजकोष से 2500 करोड़ सृजन एनजीओ के खाते में डालकर गबन किया था.बता दें कि सृजन घोटाला 2004 में हुआ था जिसने नीतीश कुमार की छवि का खासा नुकसान पहुंचाया था.

तेजस्वी ने ट्वीट के साथ द टेलीग्राफ की जिसमें एक सीबीआई अधिकारी पर 1400 करोड़ के सृजन घोटाले की जांच को दबाने की बात कही गई है. एक खबर का लिंक भी शेयर किया. इसके अलावा उन्होंने पिता लालू के ट्विटर पर एक अन्य खबर का लिंक शेयर किया जिसका टाइटिल था-  ‘क्या नरेंद्र मोदी के परम सहयोगी राकेश अस्थाना ने ही 2500 करोड़ के सृजन घोटाले में नीतीश को बचाया?’ राजद के आधिकारिक ट्विटर पर भी ये खबर शेयर की गई.

बता दें कि सीबीआई के दो प्रमुख अधिकारियों पर रिश्वत और भ्रष्टाचार का आरोप लगने के बाद से जांच जारी है और दोनों ही अधिकारी राकेश अस्थाना और आलोक वर्मा को जांच पूरी होने तक के लिए छुट्टी पर भेज दिया है. साथ ही नागेश्वर राव को सीबीआई का अंतरिम निदेशक बना दिया है. हालांकि मामले में छुट्टी पर भेजे जाने के खिलाफ आलोक वर्मा की याचिका पर शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई थी. सुनवाई में कोर्ट ने कहा है कि नागेश्वर राव बस डेली रूटीन के काम करेंगे, बतौर अंतरिम निदेशक वे कोई फैसला नहीं ले सकते.

CBI Director Alok Verma PSO, Who Caught IB Officials, Tranferred by Delhi Police: सीबीआई डायरेक्टर आलोक वर्मा के घर के बाहर से IB के अफसरों को पकड़ने वाले पीएसओ का तबादला

CBI Director Alok Verma Supreme Court Verdict: सुप्रीम कोर्ट ने कहा- आलोक वर्मा को फौरी राहत नहीं, 2 हफ्ते में जांच पूरी करे सीवीसी

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर