पटनाः देश भर में हो रही दलितों पर राजनीति के बीच अंबेडकर जयंती पर केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने एक पांच सितारा होटल में दलितों के साथ भोजन किया. गौर करने की बात तो यह है कि इससे पहले रविशंकर प्रसाद पटना के एक दलित बस्ती में जरूर गए लेकिन वहां पुलिया के शिलान्यास के बाद वह वहां से निकल गए. हालांकि बीजेपी के अन्य नेताओं ने वहीं एक सामुदायिक भवन में दलितों के साथ भोजन किया.

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कैबिनेट के सभी सदस्यों को दलित बस्तियों में जाकर दलितों के साथ दोपहर का लंच या डिनर करने के निर्देश दिए थे. साथ ही उन्होंने कहा था कि इस बीच दलितों की समस्याएं सुने. पीएम ने दलितों के विकास के लिए 14 अप्रैल से 5 मई के बीच दलितों के घर जाकर उनकी समस्याएं सुनने और उनके साथ भोजन करने के निर्देश दिए थे.

बता दें कि शनिवार को केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बिहार सरकार के मंत्री नंद किशोर यादव और पार्टी के विघायक संजीव चौरसिया तथा नीतिन नवीण के साथ एक पुलिया की नींव रखी थी. जिसके बाद वह वहां से रवाना हो गए वहीं विद्यापति भवन में दलितों खाना खाया. वहीं रविशंकर प्रसाद ने होटल पहुंचकर दलितों के साथ भोजन किया. इस मामले पर राजनीति बढ़ी तो बीजेपी नेता नंदकिशोर यादव ने कहा कि रविशंकर प्रसाद आईटी विभाग द्वारा आयोजित कार्यक्रम के लिए रवाना हो गए थे जिसके चलते दलितों को होटल भेजा गया जहां उन्होंने उनके साथ खाना खाया. हालांकि होटल में लंच का कार्यक्रम पूर्व निर्धारित था और इसकी जानकारी खुद केंद्रीय मंत्री ने ट्वीट कर दी थी.

यह भी पढ़ें- पीएम ने भाजपा सांसद-विधायकों को दिया टास्क, दलितों के घर करें रात्रि विश्राम

शंकराचार्य ने साधा शाह पर निशाना, कहा-दलितों के लिए झूठा प्रेम

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App