Bulli Bai app 

नई दिल्ली. Bulli Bai app के जरिए सोशल मीडिया पर मुस्लिम महिलाओं के लिए अपमानजनक बातें व बोली लगाने तथा नफरत फैलाने के मामलें में एक आरोपी को बेंगलुरु से गिरफ्तार करने के बाद अब उत्तराखंड पुलिस ने इस मामले की मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. आरोपी एक महिला है, जो अपने बेंगलूर वाले दोस्त के साथ मिलकर इस घिनोने काम को अंजाम दे रही थी.

नाम बदल रची पूरी साजिश

बेंगलुरु से जिस आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार किया है उसका नाम विशाल कुमार है, वह पेशे से एक सॉफ्टवेयर डेवलपर है और उसने महिला के साथ मिलकर 100 से ज़्यादा मुस्लिम महिलाओं को टारगेट किया और उनके खिलाफ गन्दी बाते और उनकी बोलियां लगाई। ये दोनों सोशल मीडिया पर एक दूसरे के साथ कनेक्टेड थे, जिससे मुंबई क्राइम सेल को महिला को पकड़ने में काफी मदद मिली। अब मुंबई पुलिस साजिशकर्ता महिला को ट्रांजिट रिमांड पर लेने के लिए उत्तराखंड कोर्ट में पेश करेगी और इस मामले में आगे की जांच करेगी। बता दें सॉफ्टवेयर डेवलपर ने इस एप्प में खालसा के नाम से अकॉउंट बनाया था ताकि पीड़ित महिलाओ को लगे कि इस सब के पीछे सीख समुदाय का कोई व्यक्ति है. वहीँ गिरफ्तार महिला ने 3 फ़र्ज़ी अकाउंट इस अप्प पर बनाए थे और विशाल कुमार के साथ इस पूरी वारदात को अंजाम दिया।

Bulli Bai ऐप पर दिल्ली पुलिस का एक्शन

दिल्ली पुलिस ने इस मामलें पर ट्विटर से Bulli Bai से जुड़े सभी ट्वीट को हटाने की मांग की है और ये पता लगाने को कहा है कि सबसे पहले किस व्यक्ति ने इस एप्प के खिलाफ ट्वीट या अपनी प्रतिक्रिया दी थी.

यह भी पढ़े:

Corona Alert: दिल्ली के सीएम अरविन्द केजरीवाल के बाद भाजपा सांसद मनोज तिवारी भी कोरोना पॉजिटिव 

Punjab Night Curfew: पंजाब में नाईट कर्फ्यू का ऐलान, रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक सख़्त पाबंदियां

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर