बुलंदशहर. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज बुलंदशहर हिंसा में शहीद हुए पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध सिंह के परिजनों से मुलाकात की. इंस्पेक्टर के परिवार के साथ लखनऊ में मुख्यमंत्री ने मुलाकात की. शहीद इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की पत्नी, बेटा और बहन मुख्यमंत्री सीएम आवास पहुँचे. उनके साथ प्रभारी मंत्री अतुल गर्ग, विधायक एटा सतपाल सिंह राठौर भी साथ में पहुंचे. सोमवार को हुए इस बवाल पर सीएम योगी ने दुख जताया था. 

मुख्यमंत्री आवास पर मुलाकात के बाद एक प्रेस वार्ता की गई. इसमें पीड़ित परिवार के साथ प्रभारी मंत्री अतुल गर्ग, विधायक सतपाल सिंह राठौर, डीजीपी ओपी सिंह मौजूद रहे. डीजीपी ओपी सिंह ने कहा, ‘बुलन्दशहर में एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना हुई. पुलिस विभाग, सीएम, सभी की ओर से मृतक को श्रद्धांजलि, सीएम ने इंटेलिजेंस विभाग को जांच दी है जिसकी आज रिपोर्ट मिलेगी. सुबोध सिंह का बड़ा बेटा सिविल सर्विस और छोटा बेटा लॉ की तैयारी कर रहा है. मुख्यमंत्री ने कह दिया है कि जो जांच होगी उसमें सभी की भूमिका तय होगी और कार्यवाही होगी. सीएम ने आश्वासन दिया है परिवार के साथ सरकार खड़ी है. दोनो बच्चों की पढ़ाई का वहन सरकार करेगी. पहले 40 लाख परिवार को और अब 10 लाख भी परिवार को जायेगा. जो पीड़ित परिवार ने बच्चो की पढ़ाई के लिए लोन लिया था वो राशि सरकार देगी. पेंशन के साथ परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाएगी. बच्चों की पढ़ाई के लिए पुलिस विभाग की ओर से मदद दी जाएंगी.’

प्रभारी मंत्री अतुल गर्ग ने कहा, ‘जो 25 से 30 लाख का परिवार ने कर्ज लिया है वो सरकार अदा करेगी. शहीद सुबोध के नाम पर सड़क का नाम और कॉलेज का नाम सरकार रखेगी. सरकार ने इसके आदेश दिए हैं. एटा के जैथरा कुरावली सड़क का नामकरण शहीद सुबोध सिंह के नाम पर किया जाएगा.‘ शहीद पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध सिंह के बेटे श्रेय प्रताप सिंह नें कहा, ‘हमारी मुख्यमंत्री से मुलाकात हुई है हमने अपनी मांगे उनके सामने रखी. हमारी सभी मांगो को सरकार ने मान लिया है. जो आरोपी है उनके खिलाफ कठोर कार्यवाही की हमने मांग की है. सरकार ने इस मांग को भी पूरा करने का आश्वासन दिया है.’ इसी के बाद एटा के जैथरा कुरावली सड़क का नामकरण श्री सुबोध कुमार सिंह शहीद मार्ग कर दिया गया है.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पहले ही सुबोध सिंह की पत्नी को 40 लाख रुपए, माता-पिता को 10 लाख रुपए और परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने का ऐलान कर चुके हैं. मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को इस मामले में जल्द से जल्द जांच करने के आदेश भी दिए हैं. मंगलवार आधी रात तक योगी आदित्यनाथ ने कानून-व्यवस्था की समीक्षा की. उन्होंने बुलंदशहर हिंसा को एक गहरी साजिश बताया है. उन्होंने हिंसा में शामिल लोगों को तुरंत गिरफ्तार करने के निर्देश दिए हैं. साथ ही उन्होंने गोकशी करने वाले लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए हैं.  योगी आदित्यनाथ ने बुलंदशहर हिंसा में ही मारे गए छात्र सुमित चौधरी और लखनऊ में मारे गए भाजपा नेता प्रत्युष मणि त्रिपाठी के परिजनों को दस-दस लाख रुपये मुआवजे का ऐलान किया है. कहा जा रहा है कि मुख्यमंत्री के कड़े निर्देशों को ध्यान में रखकर जांच कर रही इंटेलीजेंस के एडीजी की रिपोर्ट आने के बाद बुलंदशहर के एसपी को हटाया जा सकता है.

Bulandshahr Mob Violence Yogesh Raj Video: हिंसा के बाद पहली बार सामने आया योगेश राज, वीडियो जारी करके बोला- मैं निर्दोष हूं

Bulandshahr Mob Violence: बुलंदशहर हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की हत्या का रहस्य गहराया, सुमित के मर्डर में भी 0.32 बोर की गोली निकली

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App