बुलंदशहरः बुलंदशहर के स्याना में भीड़ द्वारा हिंसा के बाद वहां का माहौल अभी नियंत्रण में है. मौके पर एडीजी, डीएम, एसपी और आला अधिकारियों ने घटनास्थल का जायजा लिया है और स्थिति को कंट्रोल में करने की कोशिश की है. इस बीच इस मामले में राजनीति भी तेज हो गई है. विपक्ष ने यूपी के योगी आदित्यनाथ सरकार को घेरते हुए राज्य के शासन व्यवस्था पर सवाल उठाए हैं.

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने ट्वीट करते हुए राज्य की शासन व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए लिखा कि वर्तमान प्रशासन में पूरा प्रदेश हिंसा और अराजकता के दुर्भाग्यपूर्ण दौर से गुजर रहा है. उन्होंने मृतक एसएचओ सुबोध सिंह को भावपूर्ण श्रद्धांजलि दी है और कहा कि बुलंदशहर में पुलिस व ग्रामीणों के संघर्ष का समाचार बेहद दुखद है. वहीं सपा नेता आजम खान ने भी इस पर अपना बयान दिया है. उन्होंने कहा कि यदि वहां पर गोवंश के मृत शरीर पाए गए तो यह भी जांच का विषय है. 

आजम खान ने कहा कि चूंकि जिस जगह पर हिंसा हुई है, वहां पर अल्पसंख्यक समुदाय के लोग कम है. इसलिए इस बात की भी जांच होनी चाहिए कि वहां पर गोवंशीय शवों को किसने लाया. आजम खान ने इस मामले की एसआईटी जांच की मांग की है. वहीं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ पर कटाक्ष किया है. कपिल सिब्बल ने कहा कि योगी आदित्यनाथ अपनेे राज्य का ख्याल नहीं रख पा रहे हैं और तेलंगाना में चुनाव प्रचार में लगे हुए हैं.

UP Bulandshahar Violence: योगी आदित्यनाथ का ऐलान, शहीद पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार के परिवार को मिलेगा 50 लाख का मुआवजा और एक सरकारी नौकरी

Bulandshahr Violence: बुलंदशहर में गोकशी विरोधी हिंसा में शहीद इंस्पेक्टर सुबोध सिंह दादरी में अखलाक की बीफ मॉब लिंचिंग हत्या के वक्त बिसहड़ा में थानेदार थे

Bulandshahar Mob Attack Violent Protest: बुलंदशहर में हिंसक प्रदर्शन में थाना प्रभारी की मौत, बीजेपी विधायक बोले- पुलिस ने पहले की फायरिंग

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App