बुलंदशहरः बुलंदशहर हिंसा पर राजनीतिक बयान आने शुरु हो गए हैं. कांग्रेस और समाजवादी पार्टी ने इस घटना को योगी आदित्यनाथ सरकार की नाकामी बताई है. वहीं अब सरकार के अंदर के लोगों ने भी प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से सरकार को घेरना शुरु कर दिया है. योगी सरकार में मंत्री और सुहेलदेव समाज पार्टी के अध्यक्ष ओपी राजभर ने इसे विश्व हिंदू परिषद, बजरंग दल और आरएसएस की साजिश का परिणाम बताया.

ओपी राजभर ने इस हिंसा में बीजेपी का हाथ होने की भी आशंका जताई. उन्होंने विरोध प्रदर्शन के तारीख पर भी सवाल उठाते हुए कहा कि प्रदर्शन की तारीख भी इज्तेमा के दिन ही रखी गई ताकि शांति भंग की जा सके. वहीं केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने इस घटना को मानवीयता को शर्मसार करने वाला बताया. उन्होंने कहा कि इस घटना में प्रभावित लोगों के साथ न्याय किया जाएगा. राज्य सरकार ने इसका पूरा भरोसा दिया है.  उन्होंने लोगों से भी शांति बरतने की अपील की.

आपको बता दें कि सोमवार को यूपी के बुलंदशहर के स्याना में गोकशी के विरोध में हो रहा प्रदर्शन हिसंक हो गया. इस हिंसा में गोली लगने से एसएचओ सुबोध सिंह और एक आम नागरिक की मौत हो गई. इंस्पेक्टर के परिवार वालों ने इस मामले में षड्यंत्र की आशंका जताई है. उन्होंने इस मामले में पुलिस की भूमिका पर भी सवाल उठाए हैं.

Bulandshahar Mob Violence Political Reaction: बुलंदशहर में एसएचओ सुबोध सिंह की मौत पर बोले अखिलेश यादव- उत्तर प्रदेश में हिंसा और अराजकता का माहौल

Bulandshahr Violence: बुलंदशहर हिंसा मामले में बीजेपी, बजरंग दल और वीएचपी के नेताओं के खिलाफ एफआईआर, इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की हुई थी हत्या

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App