लखनऊ. 23 मार्च को राज्यसभा चुनाव की समाप्ति के बाद शनिवार को बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने मीडिया को संबोधित किया. इस दौरान मायावती ने बसपा-सपा गठबंधन के बारे में एक बड़ा ऐलान किया. मायावती ने कहा कि राज्य सभा चुनाव परिणामों से बहुजन समाज पार्टी और समाजवादी पार्टी के गठबंधन पर कोई प्रभाव नहीं पडेगा. मायावती ने सीधे तौर पर इशारों-इशारों में कहा कि दोनों पार्टियों का गठबंधन आगे भी जारी रहेगा. इस दौरान पूर्व मुख्यमंत्री ने बीजेपी और सीएम योगी आदित्यनाथ पर जमकर निशाना साधा.

मायावती ने कहा कि समाजवादी पार्टी और बीएसपी के साथ आने से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके चेले की नींद उड़ गई. साथ ही उन्होंने कहा कि सपा-बसपा की यह दोस्ती नहीं टूटेगी, बीजेपी चाहे कितनी भी खरीद फरोख्त कर ले. मायावती ने कहा कि बहुजन समाज पार्टी अब अपनी नई रणनीति पर काम करेगी. बीजेपी की अराजकता जारी है. इसलिए लोकसभा उपचुनाव में बसपा ने सपा का समर्थन किया. मायावती ने गठबंधन पर बोलते हुए कहा कि मैं बीजेपी और उनकी कंपनी से यह कहना चाहती हूं कि वह लोग चाहें तो कुछ भी कर लें, लेकिन बीएसपी और एसपी की दोस्ती नहीं टूटेगी. एक इंच मात्र का भी असर नहीं होगा.

लखनऊ में अपने आवास पर मायावती ने कहा कि बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा ने अपने प्रत्याशी को किसी भी कीमत पर जीत दिलाने की ठान ली. इसके लिए उन्होंने लोकतंत्र की मर्यादा को भी तार-तार कर दिया. मायावती ने कहा कि हम बीजेपी के खिलाफ लड़ते रहेंगे. बीएसपी उम्मीदवार को वोट करने के लिए माय़ावती ने विधायकों को बधाऑई देते हुआ कहा कि मैं उन सभी विधायकों के हिम्मत की बधाई देती हूं जिन्होंने बीजेपी के डर से क्रास वोटिंग नहीं की. उन्होंने कहा कि सपा और बसपा के विधायकों को वोट डालने से रोका गया.

राज्यसभा चुनाव: BSP की हार पर बोले सतीश मिश्रा- SP ने पूरा सपोर्ट किया, दलित विरोधी BJP ने अंबेडकर को हराया

जया बच्चन की कीमत पर बसपा के भीमराव अंबेडकर को राज्यसभा भेजेगी अखिलेश यादव की सपा ?

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App