नई दिल्लीः सार्वजनिक क्षेत्र की दूरसंचार कंपनी बीएसएनएल के कर्मचारी यूनियन ने सरकार पर रिलायंस जियो को अतिरिक्त फायदा पहुंचाने का आरोप लगाया है. बीएसएनएल कर्मचारी यूनियन ने कहा कि रिलायंस जियो अन्य सेवा प्रदाता कंपनियों को खा जाना चाहती है और सरकार उसको ऐसा करने में मदद कर रही है. यूनियन का कहना है कि सरकार अन्य कंपनियों की तुलना में रिलायंस जियो को अतिरिक्त संरक्षण दे रही है. बीएसएनएल के कर्मचारियों ने इसके विरोध में 3 दिसंबर से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने की घोषणा की है.

बीएसएनएल के कर्मचारी यूनियन ने यह भी दावा किया कि रिलायंस जियो को ही फायदा दिलाने के मकसद से सरकार ने बीएसएनएल को 4जी स्पेक्ट्रम का आवंटन नहीं किया. यूनियन ने दूरसंचार क्षेत्र के संकट में होने की बात कही. यूनियन का कहना है कि रिलायंस जियो ने ऐसी दरें लागू की हैं जो मार्केट को बिगाड़ रही हैं और अन्य कंपनियों को नुकसान पहुंचा रही हैं. कर्मचारी यूनियन का यह भी कहना है कि रिलायंस जियो सभी कंपनियों को खत्म कर भारतीय बाजार में एकछत्र राज करना चाहती है.

यूनियन ने कहा कि कई कंपनियां जैसे- एयरसेल, टाटा, रिलायंस और टेलिनॉर पहले ही अपनी सेवाओं को बंद कर चुकी हैं और जियो की वजह से इस सूची में कई नाम और जुड़ सकते हैं. यूनियन ने चेताया भी है कि प्रतिस्पर्धा समाप्त हो जाने के बाद जियो अपनी दरों में बेतहाशा वृद्धि करेगी और जनता को लूटने का काम करेगी. बीएसएनएल यूनियन के इन आरोपों पर अभी रिलायंस जियो और प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) की कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है.

BSNL Data Carry Forward: बीएसएनएल ने अपने पोस्टपेड यूजर्स के लिए शुरू की डाटा कैरी फॉरवर्ड स्कीम, इस सर्किल के लोगों को मिलेगा फायदा

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर