नई दिल्ली. भारत देश जहां औरतों के पीछे महाभारत और लंका का विध्वंस तक हुआ है अब उसी देश में इंसान रूपी खाल पहने हुए भेड़िये रह रहे हैं. जिस देश में ये कहा जाता है कि यत्र नार्यस्तु पूज्यन्ते रमन्ते तत्र देवता मतलब जहां नारियों की पूजा और सम्मान-सत्कार किया जाता है वहां देवता निवास करते हैं. हालांकि अब यह देश वो देश नहीं रहा है क्योंकि जिस तरह से देश में महिलाएं असुरक्षित हैं उसे देखकर आप अंदाजा लगा सकते हैं कि आने वाले समय में महिलाओं का घर से बाहर निकलने में भी डर लगेगा. आखिर महिलाओं के साथ हो रहे इस दुराचार के पीछे किसका हाथ है. 

देश में साल 2019 का हर दिन काले दिन की तरह रहा है. इस साल के लगभग हर दिन में रेप और छेड़छाड़ की घटनाएं सामने आईं हैं, देश की राजधानी दिल्ली से लेकर किसी भी राज्य में देश की बेटियां महफूज नहीं हैं. रात के समय कोई भी लड़की किसी काम से अगर सड़कों पर अकले निकलती है या किसी मजबूरी के कारण वह घर जाने के लिए लेट हो जाती है तो उसके मन में यही डर रहता है कि कहीं उसके साथ कुछ हो न जाए. हम आपको वो घटनाएं बताने जा रहे हैं जिन्हें याद करके भी आपके अंदर की रूह कांप उठेगी.

हैदराबाद डॉक्टर रेप केस

यह एक ऐसा रेप केस है जिसके बारे में जिसने सुना उसके दिल से सिर्फ एक ही अवाज आई है कि अपराधियों को फांसी दो. 27 नवंबर 2019 को हैदराबाद में महिला पशु चिकित्सक के साथ चार लोगों ने हैवानियत को अंजाम देकर उसे जिंदा जला दिया था. जब 29 नवंबर की सुबह महिला का शव एक पुल के नीचे पाया गया तो देश का हर बच्चा इन दरिंदों के लिए फांसी की मांग करने लगा. वहीं साइबराबाद पुलिस ने चार आरोपी मोहम्मद अली उर्फ मोहम्मद आरिफ, शिवा, नवीन कुमार और केशवुलु को 14 दिन की न्यायिक हिरासत के लिए भेज दिया है.

हिमाचल प्रदेश रेप केस

शिमला में सोलह साल की गुड़ियां जब 4 जुलाई 2017 को अपने घर लौट रही थी तो उसे भी नहीं पता होगा कि यह उसकी जिंदगी का आखिरी दिन होगा. हवशी दरिंदों ने बच्ची का पहले अपहरण किया और फिर उसके साथ गैंगरेप किया. इसके बाद बेटी की हत्या करके उसे जंगल में फेंक दिया गया और दो दिन बाद 6 जुलाई को दांदी के जंगल में गुड़िया का शव मिला था. इस केस में एसआईटी ने जांच कर 13 जुलाई को पांच आरोपियों की गिरफ्तारी की जिसमें एक आरोपी की लॉकअप में मौत हो गई थी.

बागपत रेप केस

बागपत के छपरौली थाना क्षेत्र के गांव में 13 सितंबर 2019 को एक दिल दहलाने वाली घटना सामने आई थी. इस दिन 3 साल की मासूम को उसका ताऊ का लड़का नमीकल दिलाने के बहाने घर से बाहर ले गया था और जंगल में जाकर मासूम के साथ हैवानियत की घटना को अंजाम दिया. आरोपी बच्ची के साथ दुष्कर्म करके भाग गया था लेकिन दिल्ली पुलिस ने 29 अक्तूबर को इस अपराधी को पकड़ लिया और 30 अक्टूबर को जेल के अंदर डाल दिया. इसके बाद कोर्ट ने फैसला सुनाते हुए इसे उम्रकैद की सजा सुनाई.

उन्नाव रेप केस

उन्नाव के बिहार थाना क्षेत्र के सिंदुपुर गांव में गुरुवार 5 दिसंबर 2019 को हैदराबाद जैसी घटना सामने आई है. यहां पर चार लड़कों ने एक लड़की के साथ पहले गैंगरेप किया और फिर उसके मारपीट करके जिंदा जला दिया है. लड़की का 90 प्रतिशत शरीर जल चुका है और लड़की का अस्पताल में इलाज चल रहा है. लड़की को गांव के हरिशंकर त्रिवेदी, किशोर, शुभम, शिवम और उमेश ने पेट्रोल डालकर जलाया है और पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.

उन्नाव रेप केस के आरोपी कुलदीप सिंह सेंगर को सीतापुर जेल से दिल्ली लाया गया, कहा- मुझे सीबीआई, सुप्रीम कोर्ट और भगवान पर भरोसा

राजस्थान टोंक रेप केस

राजस्थान के टोंक जिले के अलीगढ़ में शनिवार 30 दिसंबर 2019 को एक 6 साल की स्कूली छात्रा घर से पढ़ने तो गई लेकिन वह वापस नहीं लौटी. इसके बाद परिवार वालों ने बच्ची की तलाश शुरू की तो अगले दिन सुबह परिजनों को गांव के बाहर के मंदिर के पास घनी झाड़ियों में बच्ची का शव मिला. आरोपी ने बच्ची के साथ रेप करके उसकी ही स्कूल ड्रेस की बेल्ट से गला दबाकर हत्या की तो बच्ची की आंखे बाहर निकल आई. हालांकि पुलिस ने आरोपी को पकड़ लिया है और 5 दिनों की पुलिस कस्टडी में भेज दिया है. 

मुंबई रेप केस

मुंबई के विले पार्ले इलाके में एक व्यक्ति ने कथित रूप से एक 9 साल की लड़की से बलात्कार किया और उसकी हत्या कर दी गई. हत्या के बाद आरोपी ने विले पार्ले के नेहरू नगर इलाके में एक सार्वजनिक शौचालय के अंदर महिला के शव को फैंक दिया था. हालांकि काफी छानबीन के बाद इस रेप हत्या से जुड़े आरोपी को पकड़कर जेल भेज दिया था.

Rajasthan Married Minor Girl Gangrape Case: राजस्थान में एक नाबालिग के साथ रेप, पति सहित चार लोगों पर आरोप

अलीगढ़ रेप केस

हाल ही के समय की सबसे बर्बर घटना उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ की है यहां पर सिर्फ 5,000 रुपये के विवाद को लेकर तीन साल की एक बच्ची की गला काटकर हत्या कर दी गई और उसकी आंखें फोड़ दी गईं. यह घटना 2 जून को सामने आई जब अलीगढ़ के टप्पल शहर में आवारा कुत्तों ने कूड़े के ढेर से बच्चे के कटे हुए शरीर को बाहर निकालना शुरू किया. इस केस के आरोपियों को पकड़कर पुलिस ने जेल भेज दिया है. पुलिस के अनुसार, लड़की की उसके दो पड़ोसियों, जाहिद और असलम ने बेरहमी से हत्या कर दी थी. पुलिस के अनुसार लड़की का रेप नहीं हुआ था लेकिन गांव के लोगों की मानें तो लड़की का रेप करके हत्या की गई थी.

निर्भया रेप केस दिल्ली

16 दिसंबर साल 2012 के रेप केस को देश का कोई नागरिक नहीं भूल सकता है. साउथ दिल्ली के मुनिरका में लिफ्ट देने के बहाने लड़की और उसके दोस्त को गाड़ी में बिठाया था, इसके बाद महिला के साथ आरोपियों ने दुष्कर्म किया. युवती के दोस्त के सामने ही इन दरिंदों ने उसका रेप किया और मरी हुई हालत में छोड़ दिया, अस्पताल में लड़की का इलाज भी हुआ और कई सर्जरी भी हुईं लेकिन 29 दिसंबर को सिंगापुर में निर्भया की मौत हो गई. इस केस के एक आरोपी ने तिहाड़ जेल में ही फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली थी और बाकी आरोपियों को कोर्ट ने फांसी की सजा सुनाई है.

ये भी पढ़ें

Hyderabad Doctor Rape Murder Case: शर्मनाक- हैदराबाद रेप पीड़िता की वीडियो हो रही पोर्न वेबसाइटों पर सर्च

Nirbhaya Gang Rape Case: निर्भया गैंगरेप के दोषी की दया याचिका को दिल्ली सरकार ने खारिज करने की सिफारिश की