July 18, 2024
  • होम
  • नहीं सुधरे केजरीवाल: बीजेपी का आरोप – हिंदुओं का पानी मुसलमानों को दे रहे

नहीं सुधरे केजरीवाल: बीजेपी का आरोप – हिंदुओं का पानी मुसलमानों को दे रहे

  • WRITTEN BY: Anjali Singh
  • LAST UPDATED : June 17, 2024, 5:42 pm IST

Delhi Water Crisis: दिल्ली में पेयजल संकट ने जनता को परेशान कर दिया है। पिछले एक सप्ताह से अधिक समय से लोग साफ पानी के लिए तरस रहे हैं। इस मुद्दे पर राजनीतिक विवाद भी गहराता जा रहा है। विपक्षी दल इसके लिए आम आदमी पार्टी को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं, जबकि दिल्ली की केजरीवाल सरकार हरियाणा और हिमाचल प्रदेश को दोषी बता रही है।

कपिल मिश्रा का नया आरोप

बीजेपी नेता कपिल मिश्रा ने आम आदमी पार्टी पर नया आरोप लगाते हुए कहा कि केजरीवाल सरकार हिंदू इलाकों का पानी मुस्लिम इलाकों को दे रही है। उन्होंने ट्विटर पर पोस्ट करते हुए लिखा कि दिल्ली में पानी के संकट का कारण यह है कि सरकार हिंदू इलाकों का पानी रोककर मुस्लिम इलाकों में अतिरिक्त पानी भेज रही है। उनका कहना है कि हिंदुओं ने मोदी को वोट देकर जिताया है, और उसी की सजा केजरीवाल सरकार जनता को दे रही है।

दिल्ली में तेज हुई राजनीति

पानी संकट के बीच दिल्ली के कई हिस्सों में राज्य सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है। दिल्ली के सभी 7 लोकसभा सीटों के सांसदों ने भी अलग-अलग हिस्सों में प्रदर्शन किया है। केजरीवाल के खिलाफ नारेबाजी की गई और दिल्ली सरकार का पुतला भी फूंका गया। कई हिस्सों में मटका फोड़ हिंसक प्रदर्शन भी हुए, जिसमें दिल्ली जल बोर्ड ऑफिस के शीशे तोड़ दिए गए।

जनता से हार का बदला: कपिल मिश्रा

कपिल मिश्रा ने कहा कि यमुना विहार, मौजपुर और गोकुलपुरी का पानी सीलमपुर, सीमापुरी और जाफराबाद भेजा जा रहा है। उन्होंने आगे कहा कि आईपी एक्सटेंशन का पानी रोककर अल्लाह कॉलोनी में भेजा जा रहा है। राजेंद्र नगर, आनंद पर्वत और करोल बाग का पानी जामा मस्जिद और मटिया महल में भेजा जा रहा है। मिश्रा ने आरोप लगाया कि सरकार बकरीद के बहाने पानी डायवर्ट कर रही है और धर्म के आधार पर पानी का वितरण बंद करना चाहिए।

देखे वीडियो

दिल्ली में पेयजल संकट ने राजनीतिक विवाद को और बढ़ा दिया है। आरोप-प्रत्यारोप के बीच जनता को राहत कब मिलेगी, यह देखना बाकी है। इस मुद्दे पर सरकार की क्या प्रतिक्रिया होती है और क्या उपाय किए जाते हैं, यह महत्वपूर्ण होगा।

 

 

ये भी पढ़ें: साफ पानी का संकट: 90% शहरों में पीने योग्य पानी की भारी कमी

Tags

विज्ञापन

शॉर्ट वीडियो

विज्ञापन