पाकुड़. झारखंड के पाकुड़ में भारतीय जनता पार्टी- बीजेपी युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने सामाजिक कार्यकर्ता और आर्य समाज के नेता स्वामी अग्निनेश को बुरी तरह पीट दिया है जिसके बाद उन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है. बंधुआ मुक्ति मोर्चा के संयोजक और सामाजिक कार्यकर्ता स्वामी अग्निवेश आदिवासियों के एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने पाकुड़ गए थे जहां होटल के बाहर भाजपा युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने काले झंडे लेकर स्वामी अग्निवेश वापस जाओ के नारे लगाए. बीजेपी कार्यकर्ता स्वामी अग्निवेश पर पाकिस्तानी और ईसाई मिशनरी का एजेंट होने और आदिवासियों को भड़काने का आरोप लगा रहे थे.

पाकिस्तान से बातचीत के हिमायती स्वामी अग्निवेश सरकार और माओवादियों के बीच भी वार्ता के पक्षधर रहे हैं और कई बार उन्होंने इसका सूत्रधार बनने की पेशकश भी की है जिसको लेकर वो हिन्दूवादी संगठनों के निशाने पर रहते हैं. बीजेपी शासित झारखंड के पाकुड़ में वो हिल असेंबली पहाड़िया महासभा के दामिन दिवस महोत्सव में बतौर मुख्य अतिथि शामिल होने गए थे.

अखिल भारतीय आदिम जनजाति विकास समिति, झारखंड के संरक्षण में आयोजित इस सभा में पहुंचे स्वामी अग्निवेश पर बीजेपी कार्यकर्ताओं ने ईसाई मिशनरी के इशारे पर आदिवासियों को बरगलाने का आरोप लगाया, पाकिस्तानी एजेंट होने का नारा लगाया, वापस जाओ-वापस जाओ के नारे लगाए और फिर वंदे मातरम के नारों के बीच पीट दिया.

स्वामी अग्निवेश बोले, खत्म किया जाना चाहिए राष्ट्रद्रोह का कानून

बीजेपी कार्यकर्ताओं की गुंडागर्दी और पिटाई में घायल स्वामी अग्निवेश को काफी चोट आई हैं और उन्हें इलाज के लिए स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है. स्वामी अग्निवेश की पिटाई करने वाले लोग उनके पाकिस्तानी एजेंट का नारा लगा रहे थे और यह नारा भी लगा रहे थे कि भारत में रहना है तो वंदे मातरम कहना होगा.

यासिन मलिक व स्वामी अग्निवेश गिरफ्तार

आश्चर्य की बात ये है कि बीजेपी कार्यकर्ताओं के विरोध प्रदर्शन के बीच पुलिस ने स्वामी अग्निवेश की सुरक्षा का इंतजाम नहीं किया जिसके कारण वो बीजेपी युवा मोर्चा की गुंडागर्दी के शिकार बन गए. इस सिलसिले में कोई केस दर्ज हुआ है या कोई गिरफ्तार हुआ है, ऐसी कोई जानकारी अभी तक नहीं आई है.