श्रीनगर: जम्मू कश्मीर में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) का गठबंधन टूटने के बाद राज्य में राज्यपाल शासन लगा हुआ है. इस बीच एक बार फिर जम्मू कश्मीर में राजनीति हलचल तेज हो गई है. सूत्रों की मानें तो राज्य में एक बार फिर सरकार बनाने की तैयारी शुरू हो चुकी है. जिसे लेकर तमाम पार्टियों ने जोड़ तोड़ की प्रक्रिया तेज कर दी है.

सूत्रों की मानें तो सज्जाद गनी लोन, पीडीपी, कांग्रेस और कुछ निर्दलीय विधायकों के संपर्क में हैं और यह एक तीसरे मोर्चे के रूप में इकट्ठा होकर भाजपा की मदद के साथ मिलकर फिर सरकार गठन कर सकता है. राजनीतिक गलियारों में एक बार फिर हलचल तेज हो गई है जिसके बाद खबरें आ रही हैं कि नेशनल कांफ्रेंस (नेकां) के भी कुछ विधायकों को तोड़ने की कवायद शुरू हो गई है तो दूसरी तरफ कहा जा रहा है कि पीपुल्स कांफ्रेंस के प्रमुख व पूर्व मंत्री सज्जाद गनी लोन भी बीजेपी को समर्थन दे सकती है.

बता दें जम्मू कश्मीर में नए समीकरण बनते नजर आ रहे हैं. सोमवार को पीडीपी के वरिष्ठ नेता और एमएलए इमरान रजा अंसारी ने अपनी ही पार्टी की प्रमुख व पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती पर तीखा हमला किया. उन्होंने कहा था कि पीडीपी अब पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी नहीं, परिवार डेवलपमेंट पार्टी बन चुकी है. विधायक इमरान रजा अंसारी ने कहा था कि वह ऐसी पार्टी व संगठन से जुड़ना चाहते हैं जिसमें खानदानी राज न हो.

जम्मू-कश्मीर में सरकार बनाने की सुगबुगाहट, महबूबा मुफ्ती और कांग्रेस नेताओं के बीच चल रही बातचीत

जम्मू-कश्मीर में सरकार बनाने की सुगबुगाहट, महबूबा मुफ्ती और कांग्रेस नेताओं के बीच चल रही बातचीत

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App