भोपाल. भारतीय जनता पार्टी, बीजेपी के मध्य प्रदेश के गुना जिले से सांसद केपी यादव ने सोमवार को एक विवादित टिप्पणी करते हुए एक महिला कलेक्टर चापलूस कहा. उन्होंने यह टिप्पणी करते हुए कहा कि महिला क्लेक्टर सांसदों से मिलने और उनके पैर चूमने के लिए हर गांव में जाती थी. यादव ने अशोक नगर जिले की महिला कलेक्टर के खिलाफ क्षेत्र में किसानों की दुर्दशा का विरोध करते हुए विवादास्पद टिप्पणी की.

यादव ने एक वीडियो में कहा कि, वह पहले पिछले सांसदों से मिलने और उनके पैरों को चूमने के लिए हर गांव का दौरा करती थी. केपी यादव का ये वीडियो वायरल हो गया है. भाजपा नेता ने 2019 के लोकसभा चुनावों में कांग्रेस के ज्योतिरादित्य सिंधिया को हराया था.

मीडिया से बात करते हुए, बीजेपी विधायक ने कहा कि महिला कलेक्टर पहले हर गांव में पिछले सांसदों से मिलने और उनके पैर चूमने के लिए जाती थी. सोशल मीडिया पर वायरल हुए एक वीडियो में, बीजेपी सांसद को यह कहते हुए सुना जा सकता है, दूसरे जो पहले के सांसद रहे हैं उनके चरण चूमने के लिए वो गांव- गांव पहुंच जाती थी. अगर एक सांसद खुद आया है और वो ज्ञापन नहीं ले सकती हैं तो मैं रोड पर बैठा रहुंगा क्योंकि इस जनता ने मुझे सांसद बनाया है.

मध्य प्रदेश के गुना से भाजपा सांसद केपी यादव ने शिवपुरी की महिला कलेक्टर के खिलाफ इस तरह का अपमानजनक बयान देकर विवाद खड़ा कर दिया है. यादव ने हाल ही में हुए लोकसभा चुनावों में कांग्रेस के ज्योतिरादित्य सिंधिया को केपी यादव ने सवा लाख वोटों के अंतर से हराया था.

गुना लोकसभा सीट पर सिंधिया राजघराने की तीन पीढ़ियों का कब्जा रहा है और यह 2019 से पहले कभी कोई चुनाव नहीं हारा है. केपी यादव एक समय ज्योतिरादित्य सिंधिया के करीबी माने जाते थे. पेशे से डॉक्टर यादव ने साल 2004 में राजनीति में प्रवेश किया और जिला पंचायत के सदस्य बने. राजनीति के साथ ही सामाजिक कार्यों में रुचि लेने वाले यादव धीरे-धीरे सिंधिया की पसंद बन गए और जल्द ही वे सांसद प्रतिनिधि की भूमिका निभाने लगे.

Kashmir Last Hindu Queen Kota Rani Biopic: कश्मीर की आखिरी हिंदू क्वीन कोटा रानी की बायोपिक का ऐलान

Jadavapur University Screens Ram ke Naam Documentary: जादवपुर विश्वविद्यालय में बाबरी मस्जिद विध्वंस पर बनी डॉक्यूमेंट्री राम के नाम की हुई स्क्रिनिंग

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App