कोलकाता. ममता बनर्जी के पश्चिम बंगाल का सियासी बवाल खत्म होने का नाम नहीं ले रहा. बीजेपी ने अपने दो कार्यकर्ताओं की हत्या के विरोध में आज बंगाल बंद का ऐलान किया है. बीजेपी बंगाल प्रेसिडेंट दिलीप घोष ने बंगाल की तुलना कश्मीर से करते हुए कहा कि बंगाल में हालात ज्यादा खराब हैं. पश्चिम बंगाल में हिंसा पर केंद्र सरकार ने राज्यपाल से केसरीनाथ त्रिपाठी से रिपोर्ट मांगा है. गृह मंत्री अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी पश्चिम बंगाल के राज्यपाल की मुलाकात होगी और बंगाल की स्थिति पर चर्चा होगी. बीजेपी आज यानी 10 जून को बंगाल में ब्लैक डे के रूप में मना रही है.

गौरतलब है कि शनिवार को पश्चिम बंगाल के 24 उत्तर परगना में टीएमसी-बीजेपी कार्यकर्ताओं के बीच आपसी झड़प में 3 लोगों की मौत हो गई थी. मामले की जांच कर रही पुलिस के अनुसार यह पूरा मामला पार्टी के झंडे को उतारने से शुरू हुआ था. इस झड़प के दौरान टीएमसी (TMC) के एक कार्यकर्ता कायुम मोल्लह की हत्या की बात सामने आ थी. वहीं बीजेपी का कहना था कि टीएमसी के गुंडों ने उनके 2 कार्यकर्ताओं को गोली मारी दी है. जिसमें उनकी मौत हो गई.हालांकि बीजेपी के नेता मुकुल रॉय ने इस घटना के सामने के बाद एक ट्वीट किया था. उन्होंने लिखा था कि बीजेपी के तीन कार्यकर्ताओं को टीएमसी के गुंडों ने संदेशखाली इलाके में गोली मार दी है. बीजेपी कार्यकर्ताओं के साथ हो रही इस तरह की वारदात के लिए ममता बनर्जी खुद जिम्मेदार हैं.

हम इस पूरे मामले की शिकायत केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह जी से करेंगे. वहीं पश्चिम बंगाल बीजेपी के प्रमुख विजयवर्गीय ने भी इस झड़प और बीजेपी के कार्यकर्ताओं की हत्या पर दुख जताया था. उन्होंने ट्वीट किया था कि अभी अभी मिली दुखद ख़बर के अनुसार पश्चिम बंगाल के बशीरहाट लोकसभा के क्षेत्र संदेशखली में भाजपा के तीन कार्यकर्ताओं की तृणमूल के गुंडों ने हत्या कर दी.

केंद्र ने एडवाइजरी जारी कर पूछा बंगाल का हाल, ममता ने कहा यहां सब ठीक
पश्चिम बंगाल में राजनीतिक हिंसा में चार लोगों की हत्या के बाद केंद्र सरकार ने बंगाल सरकार को एडवाइजरी जारी करते हुए हालात पर तलब किया. केंद्र की एडवाइजरी के जवाब में राज्य के मुख्य सचिव मलय कुमार ने पत्र लिखकर जवाब दिया है कि बंगाल में स्थिति नियंत्रण में है. सरकार ने तुरंत एवं कठोर फैसले किए हैं. गृह मंत्रालय की तरफ से जारी एडवाइजरी में बंगाल की हिंसा पर गंभीर चिंता जताई गई थी. राज्य सरकार को राज्य में कानून-व्यवस्था और शांति बनाए रखने का निर्देश दिया गया था.

Mamata Banerjee Not to Attend NITI Aayog Meeting: खत्म नहीं हो रहा ममता बनर्जी का गुस्सा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिख नीति आयोग की बैठक में आने से किया इनकार

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App