पटना. बिहार में पिछले 60 घंटों से लगातार हो रही बारिश ने कई जिलों में बाढ़ ला दी, जिसमें कम से कम 40 लोग मारे गए और कई अन्य घायल हो गए. स्थानीय रिपोर्टों से पता चलता है कि पेड़ और दीवार गिरने से कई लोगों की मौत हो गई. बाढ़ की गंभीरता का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि राज्य की राजधानी पटना में तीन दिन बाद बारिश और बाढ़ के कारण फंसे उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी और उनके परिवार को बचाया गया. लोकप्रिय गायक शारदा सिन्हा को भी सोमवार को बारिश बंद होने के बाद बचाया गया था. कहा जा रहा है इस बारिश ने पटना को स्मार्ट सिटी बनाने में आई भारी गिरावट ने नगर निगम के सुगम जल निकासी के बार-बार दावे के पीछे के झूठ को उजागर किया है.

भारत के मौसम विभाग ने पटना में और बारिश नहीं होने का अनुमान लगाया है, लेकिन उत्तर बिहार के कुछ जिलों में बारिश नहीं बल्कि भारी बारिश की भविष्यवाणी की है. स्थानीय मौसम विभाग के अधिकारियों के अनुसार, पटना में पिछले 36 घंटों में 226 मिमी बारिश दर्ज की गई, जिसके बाद वैशाली में 210 मिमी, भागलपुर में 154 मिमी, पूर्णिया में 164 मिमी और गया जिलों में 106 मिमी बारिश हुई. समस्तीपुर के रोसरा में सबसे अधिक 290 मिमी बारिश दर्ज की गई. राज्य की राजधानी में बाढ़ ने कई लोगों को आवश्यक वस्तुओं से वंचित कर दिया.

पटना राजेंद्र नगर में पप्पू यादव सारी रात मदद पहुंचाने में लगे रहे. उन्होंने लोगों को रेस्क्यू करने का जिमा खुद उठाया. उन्होंने लोगों से हाल-चाल पूछा और जेसीबी के जरिए लोगों को सुरक्षित स्थान पहुंचाया है. उन्होंने लोगों को राहत सामग्री, रुपये और कई तरह की मुमकिन मदद दी है.

बिहार में बाढ़ की स्थिति की समीक्षा करने के लिए कैबिनेट सचिव राजीव गौबा की अध्यक्षता में राष्ट्रीय संकट प्रबंधन समिति की बैठक आयोजित की गई है. एनडीआरएफ की 22 टीमों को तैनात किया गया है जिनमें से 6 पटना में तैनात हैं. बचाव और राहत कार्यों में 2 आईएएफ हेलीकॉप्टर तैनात. राज्य सरकार द्वारा खाद्य और पेयजल की आवश्यक आपूर्ति की जा रही है और राज्य में बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में बिजली बहाल करने के प्रयास चल रहे हैं.

पटना के राजेंद्र नगर इलाके में फंसे निवासियों को बचाने के लिए नावों का इस्तेमाल किया जा रहा है. एनडीआरएफ के कमांडेंट विजय सिन्हा ने कहा, कल से 6000-7000 लोगों सहित बुजुर्गों और रोगियों को क्षेत्र से बचाया गया है. हम अब राहत सामग्री के वितरण पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं.

पटना में राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) के जवानों ने बाढ़ प्रभावित राजेंद्र नगर इलाके की एक महिला को बचाया.

पटना के श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल में राहत सामग्री की पैकिंग की जा रही है.

भारतीय वायु सेना (आईएएफ) का हेलीकॉप्टर राजेंद्र नगर, पटना के बाढ़ प्रभावित क्षेत्र में राहत सामग्री गिरा रहा है.

बिहार में पूरे-पूरे इलाके जलमग्न हो गए हैं. 4 दिनों की लगातार बारिश ने जन जीवन अस्त-व्यस्त कर दिया है. बिजली और पीने का पानी नहीं है लोगों के पास. लोगों ने बताया कि उन्हें सरकार की ओर से आ रही सामग्री नहीं मिल पा रही है.

Sushil Modi Rescued by NDRF in Patna Rains Flood: बिहार में भयानक बारिश से बाढ़ में डूबे पटना में एनडीआरएफ टीम ने डिप्टी सीएम सुशील मोदी को निकाला, 4 दिन तक फंसे रहे उपमुख्यमंत्री तो जनता की बेहाली समझिए

Purvanchal Rain Flood Photo Video: पूर्वांचल के वाराणसी, गोरखपुर, देवरिया समेत 15 जिलों में भारी बारिश और बाढ़ ने मचाई तबाही, देखें फोटो वीडियो

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App