पटना: बिहार में अगले सीएम को लेकर असमंजस की स्थिति बरकरार है. बुधवार को पीएम मोदी ने हालांकि मंच से कहा था कि बिहार में नीतीश कुमार के नेतृत्व में बीजेपी संकल्प सिद्धि करेगी लेकिन भीतरघात नीतीश कुमार को सीएम बनाने को लेकर अलग-अलग राय चल रही है. इसके पीछे कारण है जेडीयू की कम सीटें. इस बीच सीएम नीतीश कुमार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा है कि उन्होंने मुख्यमंत्री बनने का दावा नहीं किया है. अगला सीएम कौन होगा इसका फैसला एनडीए करेगा. नीतीश कुमार के इस बयान के साथ ही एक बार फिर चर्चा जोर पकड़ रही है कि बिहार में आखिरकार नीतीश नहीं तो कौन?

नीतीश कुमार ने कहा कि जनता ने एनडीए को बहुमत दिया है और हम सरकार बनाएंगे. जब सीएम और शपथग्रहण को लेकर उनसे सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि इसका फैसला एनडीए की बैठक में लिया जाएगा कि बिहार का अगला सीएम कौन होगा. उन्होंने ये भी कहा कि उनकी तरफ से कोई दवाब नहीं है. नीतीश कुमार ने ये भी कहा कि शपथ ग्रहण समारोह दिवाली या संभवत: छठ पूजा के बाद होगा. उन्होंने कहा कि हम एनडीए की बैठक में रिजल्ट की समीझा करेंगे. जानकारी के मुताबिक शुक्रवार को एनडीए घटक दलों के नेता बैठक करने जा रहे हैं.

नीतीश कुमार ने कहा कि बैठक में जेडीयू के घटे वोट प्रतिशत की भी समीक्षा की जाएगी. नीतीश कुमार ने एलजेपी पर ठीकरा फोड़ते हुए कहा कि एलजेपी ने हमारे उम्मीदवारों के सामने अपने उम्मीदवार खड़े किए. गौरतलब है कि बिहार विधानसभा की 243 सीटों में से एनडीए को 125 सीटें मिली है जिनमें 74 बीजेपी और 43 आरजेडी के हिस्से में आई है. वहीं तेजस्वी यादव की आरजेडी के हिस्से में 75 सीटें गई हैं और वो सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है. महागठबंधन की दूसरी पार्टियों में कांग्रेस को 19 और वाम दलों को 16 सीटों पर जीत मिली है. महागठबंधन को कुल 110 सीटों पर जीत मिली है.

Narendra Modi Victory Speech: सीट घटी पर कद नहीं, नरेंद्र मोदी बोले- नीतीश जी के नेतृत्व में संकल्प सिद्ध करेंगे

NDA victory celebration: पीएम नरेंद्र मोदी बोले- देश की माताएं-बहनें भाजपा की साइलेंट वोटर

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर