पटना. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की समीक्षा यात्रा के काफिले पर लोगों के हमले के बाद नेता विपक्ष और पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव लगातार तंज कस रहे हैं. तेजस्वी यादव ने काफिले पर हमले को लेकर एक वीडियो ट्वीट किया है. ट्वीट किए गए वीडियो में पुलिस एक व्यक्ति को घसीटकर पीटती हुई ले जा रही है. वीडियो के साथ दिए गए कैप्शन में तेजस्वी यादव ने लिखा, ‘नीतीश कुमार को समीक्षा यात्रा नहीं क्षमा यात्रा करनी चाहिए. बिहार में कोई महादलित अगर अपने हक़ की माँग करता है तो नीतीश जी उसका यह हश्र कराते हैं’. नीतीश कुमार के समीक्षा यात्रा के काफिले पर हमले के बाद तेजस्वी यादव ने एक के बाद एक कई ट्वीट कर नीतीश कुमार पर निशाना साधा है.

एक अन्य ट्वीट में तेजस्वी यादव ने कहा कि CM पर हमला हुआ फिर भी मीडिया क्यों चुप है? नीतीश कुमार की कार का घेराव, पत्थरबाज़ी लेकिन फिर भी बिहार में जंगलराज नहीं। नीतीश जी, विकास की समीक्षा जनता करती है मुख्यमंत्री नहीं. आत्मचिंतन करिए. इसके बाद के ट्वीट में तेजस्वी यादव ने कहा, ‘मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को को बताना चाहिए कि उनके किन कृत्यों की वजह से हर जिले में विरोध, उग्र प्रदर्शन और नारेबाज़ी का दुखद सामना करना पड़ रहा है?’ तेजस्वी यादव यहीं नहीं रुके. उन्होंने कुछ घंटे के अंतराल पर ट्वीट कर कहा, ‘हमने दलितों की उपेक्षा नहीं होने दी इसलिए हम विपक्ष में है. नीतीश जी को संघी शरण में जाना था क्योंकि दलितों को प्रताड़ित करना था.

बता दें कि बिहार के बक्सर जिले के नंदन गांव में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के काफिले पर शुक्रवार को गांव के दलित टोले के गुस्साए लोगों ने पथराव कर दिया था. इस घटना में मुख्यमंत्री को तो चोट तो नहीं लगी, लेकिन एक दर्जन से ज्यादा पुलिसकर्मी घायल हो गए और एक थानेदार का सिर फूट गया था. तेजस्वी यादव नीतीश कुमार के गठबंधन तोड़कर बीजेपी के साथ सरकार बनाने के बाद से ही लगातार उनपर हमलावर होते रहे हैं. गठबंधन की सरकार गिरने के बाद से ही तेजस्वी नीतीश कुमार पर हमलावर होने का कोई मौका हाथ से नहीं जाने देते.

समीक्षा यात्रा के दौरान नीतीश कुमार के काफिले पर पथराव, तेजस्वी यादव ने कसा तंज, कहा- ये तो होना ही था