नई दिल्ली. बिहार के गया जिले में मौत भी पति- पत्नी को अलग नहीं कर सकी. शादी के समय साथ जीने मरने का जो वादा किया जो सच में पूरा कर दिया. बुजुर्ग दंपति के वादे को मौत भी जुदा नहीं कर सकी.पति की मौत के एक घंटे के भीतर उनकी पत्नी ने भी अंतिम सांस ले ली. इसके बाद दोनों बुजुर्ग दंपति का अंतिम संस्कार एक साथ एक ही चिता पर किया गया.

ऐसा नजारा मुश्किल से देखने को मिलता है. दोनों की अर्थी एक साथ उठी. पति और पत्नी को एक साथ चिता पर लिटाया गया। जलेरतलाम के बुजुर्ग दंपति की इस मौत की चर्चा इलाके में है.  गुरारू प्रखंड की बरोरह पंचायत के बरोरह गांव निवासी 75 वर्षीय तुलसी प्रसाद महतो की शुक्रवार को मौत हो गई. पति की मौत के दो घंटे के भीतर उनकी पत्नी 70वर्षीया राजशीला देवी ने भी अंतिम सांस ली. दोनों शवों को अलग-अलग अर्थी पर घुमाया गया. इसके बाद गांव के ही शमशान घाट पर एक ही चिता पर दोनों को पुत्र ने मुखाग्नि दी. दोनों की मौत होते ही घर में कोहराम मच गया.

Covid-19: प्रियंका गांधी के पति रॉबर्ट वाड्रा को हुआ कोरोना, प्रियंका ने खुद को किया क्वारंटाइन और सभी चुनावी रैलियां की रद्द

Assam Election 2021 : पीएम नरेंद्र मोदी के भाषण के बीच बिगड़ी भाजपा नेता की तबीयत, पीएम ने भेज दी अपनी डॉक्टरों की टीम

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर