पटना: बिहार के मुख्यमंत्री और जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार ने बिहार में सात तारीख को होने वाले आखिरी चरण के मतदान से पहले आखिरी चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि ये उनका आखिरी चुनाव है. नीतीश कुमार का ये बयान उस वक्त आया है जब बिहार में दो चरणों के मतदान हो चुके हैं. नीतीश कुमार ने धमदाहा विधानसभा में आखिरी जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि “यह मेरा आखिरी चुनाव है.” नीतीश कुमार के इस बयान ने बिहार की राजनीति में हलचल पैदा कर दी है. कुछ लोग ये भी कह रहे हैं कि नीतीश कुमार ने हवा का रुख भांपते हुए ये निर्णय लिया है क्योंकि इस बार बिहार में तेजस्वी की आंधी है.

नीतीश कुमार ने जनता को संबोधित करते हुए कहा ‘जान लीजिए, आज चुनाव का आखिरी दिन है और परसो चुनाव है और ये मेरा अंतिम चुनाव है अंत भला तो सब भला. अब आप बताइए कि वोट दीजिएगा ना. जेडीयू प्रत्याशी के लिए वोट मांगते हुए नीतीश कुमार ने जनता से पूछा कि आपकी आज्ञा हो तो इन्हें जीत की माला समर्पित कर दें?’ इस बीच जनता की तरफ से शोर हुआ तो नीतीश कुमार ने कहा कि आपकी सहमति से हमने इन्हें जीत की माला समर्पित कर दी. अब परसो एक एक आदमी वोट करके जेडीयू उम्मीदवार को विजयी बनाएं.

नीतीश कुमार के बयान को उनके राजनीति से संन्यास के तौर पर देखा जा रहा है. माना जा रहा है कि अगर नीतीश कुमार चुनाव हार जाते हैं तो राजनीति से संन्यास ले लेंगे. बिहार में सात तारीख को आखिरी चरण का मतदान होना है और दस तारीख को चुनाव परिणाम घोषित होगा. बिहार के नतीजे कई मायनों में काफी अहम रहने वाले हैं क्योंकि सत्ता का क्या समीकरण इन चुनावों के बाद बनता है ये देखना दिलचस्प होगा. वहीं दूसरी तरफ नीतीश कुमार की ये भावुक अपील क्या जनता के दिलों को छुएगी और वो उन्हें उनके आखिरी चुनाव में विजयी बनाएगी ये तो दस तारीख को ही पता चलेगा.

Bihar Election 2020 Voting: बिहार में आज पहले चरण का मतदान, 71 सीटों पर वोटिंग प्रक्रिया शुरू

Bihar Assembly Election 2020: बिहार के मुंगेर में दुर्गा विसर्जन के दौरान हिंसक झड़प में एक शख्स की मौत, पुलिस के दावों पर उठे कई सवाल

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर