पटना:  चुनाव निर्वाचन आयोग ने आगामी बिहार विधानसभा चुनाव की तारीखों की घोषणा कर दी है। चुनाव आयोग ने बताया कि बिहार चुनाव 3 चरणों में होगा। पहले चरण में 71 सीटों पर वोटिंग, दूसरे चरण में 17 जिलों की 94 सीटों पर वोटिंग जबकि तीसरे चरण में 78 सीटों पर वोटिंग होगी। 28 अक्टूबर को पहले चरण का मतदान होगा, जबकि 3 नवंबर को दूसरे और 7 नवंबर को तीसरे एंव आखिरी चरण का मतदान होगा।

मतदान के बाद 10 नवंबर को मतगणना होगी। बीते कुछ दिनों से कोरोना के मद्देनजर चुनाव टालने की भी बात सामने आ रही थी, लेकिन चुनाव आयोग इन अटकलों पर विराम लगा दिया। आपको बताते चलें कि बिहार में मतदाताओं की कुल संख्या 7 करोड़ 79 लाख है। जिसमें कि 3 करोड़ 39 लाख महिला वोटर हैं जबकि 3 करोड़ 79 लाख पुरूष वोटर हैं। सुरक्षित और कोरोना मुक्त चुनाव के लिए 23 लाख ग्लब्स और 7 लाख हैंड सैनिटाइजर्स का इंतजाम किया गया है। साथ ही 6 लाख PPE किट का भी इंतजाम किया जाएगा।

मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने बताया कि 47 लाख मास्क की व्यवस्था की जाएगी। मुख्य चुनाव आयुक्त ने बताया कि उम्मीदवार के साथ महज 2 लोग रह सकते हैं और नामांकन के दौरान 2 से ज्यादा वाहन नहीं होंगे। चुनाव प्रचार के दौरान सोशल डिस्टेसिंग का खासा ध्यान रखा जाएगा. इसके अलावा 5 से अधिक लोग घर जाकर प्रचार नहीं कर सकेंगे, साथ ही चुनाव प्रचार भी वर्चुअल होगा। चुनाव आयोग ने प्रेस कॉन्फरेंस में बताया कि बिहार चुनाव कोरोना काल में पहला बड़ा चुनाव होगा और इस दौरान सोशल डिस्टेनसिंग का खासा ध्यान रखा जाएगा। आपको बताते चलें कि 243 सदस्यों वाली बिहार विधानसभा में rjd 80 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी है, जबकि जबकि jdu के 71 और bjp के 53 विधायक हैं। इसके अलावा कांग्रेस के 27 ljp के 2 और 10 निर्दलीय विधायक हैं।

आगामी बिहार चुनाव से सबंधित मुख्य बातें 

वोटिंग सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक होगी. कोरोना संक्रमण के चलते  पोलिंग बूथ पर मतदाताओं की संख्या घटाई दी गई है. एक पोलिंग बूथ पर एक हजार ही मतदाता होंगे.  हर बूथ पर सेनेटाइजर उपलब्ध होगा.  सुरक्षा मानकों के साथ ही वोटिंग होगी. कोरोना संक्रमित मरीज वोटिंग के आखिरी घंटे में वोट डाल सकेंगे. वोटिंग के दौरान करीब 6 लाख फेस शील्ड का इस्तेमाल होगा.

चुनाव लड़ने जा रहे प्रत्याशी ऑनलाइन नामांकन जमा करा सकेंगे. नामांकन करने वाले प्रत्याशी को अपने उपर चल रहे आपराधिक मामलों की जानकारी अखबारों में देनी होगी. चुनाव प्रचार के दौरान केवल पांच गाड़ियों को ही काफिले में शामिल होने की इजाजत होगी. वोटिंग के दौरान 1.89 लाख बैलेट यूनिट evm होंगे.