पटना: बिहार के भागलपुर जिले में बुधवार रात पुलिस ने लॉकडाउन के बीच मुसलमानों को सामुहिक फातेहा पढ़ने से रोका तो उग्र भीड़ ने ना सिर्फ पुलिस पर पथराव किया बल्कि गोली भी चला दी. गनीमत ये रही कि किसी पुलिसकर्मी को गोली नहीं लगी लेकिन पत्थरबाजी में होमगार्ड का एक जवान बुरी तरह घायल हो गया. मामला हबीबपुर स्थित कब्रिस्तान का है. पुलिस दल पर पथराव की खबर पाकर सिटी एसपी सुशांत कुमार सरोज साथी पुलिसकर्मियों ट्रैफिक डीएसपी आरके झा, लॉ एंड ऑर्डर डीएसपी नेसार अहदम साह, पुलिस मुख्यालय के डीएसपी और कई थानों के थानाध्यक्ष जवानों के साथ वहां पहुंचे के साथ मौके पर पहुंचे और मामले को शांत करने की कोशिश की.

इस दौरान जिला शांति कमेटी और मुहर्रम कमेटी से जुड़े लोग भी मौके पर पहुंचे और लोगों से घर पर ही रहकर मरहूम बुजुर्गों के लिए फातेहा और नमाज पढ़ने की अपील की. मस्जिद के लाऊडस्पीकर से भी मौलवियों ने लोगों से घर पर ही रहने की अपील की तब कहीं जाकर लोग अपने-अपने घर लौटे. इसके बाद पुलिस ने पूरी फोर्स के साथ मोमिन टोला पहुंचे और फ्लैग मार्च किया.

इसके बाद पुलिस ने घूम-घूमकर माइक से एलान किया कि लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी. पुलिस ने उपद्रवियों की पहचान कर उनके खिलाफ कार्रवाई करने की भी बात कही है. गौरतलब है कि बुधवार को मुसलमानों का पवित्र दिन शब-ए-बारात था जिस दिन मुसलमान अपने महरूम बुजुर्गों की कब्र पर जाकर फूल चढ़ाते हैं. इस दौरान रात भर कब्रिस्तान में बैठकर फातिया और नमाज पढ़ी जाती है लेकिन इस साल लॉकडाउन की वजह से मुसलमानों को घर पर ही रहकर इबादत करने की अपील की गई थी.

Ramayan Sugriv Died: रामचरित मानस का पाठ करते हुए निकले सुग्रीव के प्राण, अस्थियां कर रही हैं लॉकडाउन खुलने का इंतजार

Delhi University Exams postponed: कोरोना के चलते दिल्ली यूनिवर्सिटी ने स्थगित किए लिखित और प्रैक्टिकल एग्जाम, नोटिस जारी कर छात्रों को दिया ये निर्देश

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर