कोलकाता: पश्चिम बंगाल की जाधवपुर यूनिवर्सिटी में पिछले दिनों केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो के साथ हुए अभद्र व्यवहार मामले पर बंगाल बीजेपी के अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा है कि यूनिवर्सिटी में देशद्रोहियों और वामपंथियों का गढ़ बन गई है. उन्होंने कहा कि जैसे जवानों ने बालाकोट में सर्जिकल स्ट्राइक की थी वैसी ही सर्जिकल स्ट्राइक की जरूरत जाधोपुर यूनिवर्सिटी में भी है. उन्होने कहा कि हमारे कैडर ये सर्जिकल स्ट्राइक करेंगे.

राज्य की तृणमूल कांग्रेस सरकार पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि राज्य सरकार गुरुवार को आंख मूंदे हुए केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो के मरने का तमाशा देख रही थी. उन्होंने कहा कि वो केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह को लिखकर पूरे मामले की जानकारी देंगे. उन्होंने कहा कि यूनिवर्सिटी में ऐसा पहली बार नहीं हो रहा है. जाधवपुर यूनिवर्सिटी देशद्रोहियों और वामपंथी गतिविधियों का का अड्डा बनती जा रही है. उन्होंने आगे कहा कि हमारे जवानों ने जिस तरह पाकिस्तान में घुसकर आतंकी ठिकानों को खत्म किया था ठीक उसी तरह हमारे कार्यकर्ता भी जाधवपुर यूनिवर्सिटी में मौजूद देशद्रोहियों पर सर्जिकल स्ट्राइक करेंगे.

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप दंडकर की तारीफ करते हुए दिलीप घोष ने कहा कि जिस तरह राज्यपाल ने यूनिवर्सिटी जाकर बाबुल सुप्रियो की जान बचाई वो काबिल-ए-तारीफ है. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार बाबुल सुप्रियो को भीड़ के हाथों मरवाना चाहती थी. उन्होंने जाधवपुर यूनिवर्सिटी की वीसी सुरंजन दास पर तुरंत कार्रवाई की मांग करते हुए उनके इस्तीफे की मांग की. बाबुल सुप्रियो दरअसल एबीवीपी द्वारा आयोजित एक सेमिनार में हिस्सा लेने के लिए जाधवपुर यूनिवर्सिटी गए थे जहां उन्हें कुछ छात्रों ने रोका, उन्हें काले झंडे दिखाए और उन्हें वापस जाने पर मजबूर कर दिया. इस दौरान बाबुल सुप्रियो के साथ कुछ लोगों ने हाथापाई भी की जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

Students Protest Against Babul Supriyo in Kolkata Jadavpur University: कोलकाता की जादवपुर यूनिवर्सिटी पहुंचे केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो बने छात्रों का निशाना, विरोध के बाद भेजा वापस

Jadavapur University Screens Ram ke Naam Documentary: जादवपुर विश्वविद्यालय में बाबरी मस्जिद विध्वंस पर बनी डॉक्यूमेंट्री राम के नाम की हुई स्क्रिनिंग

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App