नई दिल्ली: अयोध्या राम मंदिर-बाबरी मस्जिद मामले में 24 सालों तक चली लंबी सुनवाई के बाद सुप्रीम कोर्ट की पांच जजों की संवैधानिक पीठ आज अपना फैसला सुनाने जा रही है. सुबह 10:30 बजे संवैधानिक पीठ अपना फैसला सुनाएगी. इससे पहले देश की शीर्ष अदालत में 40 दिनों तक लगातार सुनवाई के बाद कोर्ट ने अपना फैसला सुरक्षित रखा लिया था. अयोध्या मामला पर आज यानी 9 नवंबर को फैसला सुनाया जा रहा है और दिलचस्प बात ये भी है कि आज ही के दिन यानी 9 नवंबर 1989 को अयोध्या में राम मंदिर के लिए शिलान्यास किया गया था. यानी जिस दिन 30 साल पहले मंदिर की नींव पड़ी थी उसी जगह को लेकर आज कोर्ट अपना फैसला सुनाने वाला है.

गौरतलब है कि इलाहाबाद हाई कोर्ट ने 2010 में अयोध्या मामले पर जो फैसला सुनाया था उसे सभी पक्षों ने मानने से इनकार कर दिया था और सुप्रीम कोर्ट में याचिका डाली थी. इलाहाबाद हाई कोर्ट ने 2.77 एकड़ की विवादित भूमि को मुस्लिम पक्ष, रामलला विराजमान और निर्मोही अखाड़े के बीच बराबर बांट दिया था. 285 पन्नों के फैसले में इलाहाबाद हाई कोर्ट ने कहा था कि यह जमीन का छोटा-सा टुकड़ा है, जहां देवदूत भी पैर रखने से डरते हैं. कोर्ट ने आगे कहा था कि हम वह फैसला दे रहे हैं, जिसके लिए पूरा देश सांस थामें बैठा है और ठीक वैसा ही दिन आज सुप्रीम कोर्ट के इतिहास का हिस्सा बनने जा रहा है.

अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले से पहले सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. पूरे उत्तर प्रदेश में 144 लगा दी गई है. इसके अलावा मध्य प्रदेश के भी कई इलाकों में धारा 144 लगाए जाने की खबर है. अलीगढ़ में मोबाइल और इंटरनेट सेवा को बंद कर दिया गया है. अति संवेदनशील इलाकों पर खास तौर पर नजर रखी जा रही है. लगभग सभी धर्मों के धर्मगुरुओं ने लोगों से शांति बनाए रखने और भारत की गंगा-जमुनी तहजीब और आपसी भाईचारे को तरजीह देने की अपील की है.

Ayodhya Ram Mandir Babri Masjid Supreme Court Verdict Social Media Reactions Live Updates: अयोध्या राम जन्मभूमि बाबरी मस्जिद मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले से पहले ऐसा है सोशल मीडिया पर लोगों का रिएक्शन

Ayodhya Verdict Ram Janmabhoomi Babri Masjid Today: राम मंदिर बाबरी मस्जिद केस पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला कुछ ही घंटों में, दिल्ली से लेकर अयोध्या तक पुलिस अलर्ट, सुरक्षा व्यवस्था चौकन्नी

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App