नई दिल्ली: नई दिल्ली: अयोध्या राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद मामले में सुप्रीम कोर्ट में बुधवाई को सुनवाई के दौरान रामलला विराजमान की तरफ से वरिष्ठ वकील के परासरन बहस के लिए कोर्ट में पेश हुए. इस दौरान उन्होंने दलील रखी कि श्रीराम के समय में लिखी वाल्मीकि रामायण में उनका जन्म अयोध्या में बताया गया है और करोड़ों लोगों की आस्था है कि वो जगह वही है जहां अभी रामलला हैं. के परासरन ने कोर्ट से कहा कि इतने सदियों बाद ये बात कैसे साबित हो सकती है कि भगवान श्री राम का जन्म वहीं हुआ था या नहीं, इसपर कोर्ट ने कहा कि क्या कभी किसी धार्मिक हस्ती के जन्मस्थान का मसला कोर्ट में उठा है? क्या बहस हुई कि जीसस बेथलेहम में पैदा हुए थे या नहीं?

5 जजों की बेंच के सदस्य जस्टिस एस ए बोबडे ने सवाल किया, “क्या कभी किसी और धार्मिक हस्ती के जन्म स्थान का मसला दुनिया की किसी कोर्ट में उठा है? क्या कभी इस बात पर बहस हुई कि जीसस क्राइस्ट का जन्म बेथलेहम में हुआ था या नहीं? इससे पहले निर्मोही अखाड़े को कोर्ट ने पहले दिन अपनी दलीलें रखने का मौका दिया था लेकिन निर्मोही अखाड़ा जमीन पर अपने दावे के समर्थन में दस्तावेज नहीं दे पाया. निर्मोही अखाड़ा ने कहा कि 1982 में एक डकैती में उकने यहां से कई दस्तावेज गायब हो गए थे. इसपर सुप्रीम कोर्ट ने निर्मोही के वकील को दस्तावेज जुटाने के लिए समय दिया. अयोध्या राम मंदिर मामले पर दूसरे दिन की सुनवाई पूरी हो चुकी है और अब गुरुवार को फिर से रामलला विराजमान की तरफ से वरिष्ठ वकील के परासरन बहस जारी रखेंगे.

गौरतलब है कि मंगलवार को रामलला विराजमान की तरफ से 92 साल के वरिष्ठ वकील के परासरन ने रामलला विराजमान की तरफ से कोर्ट में जिरह शुरू की. इस दौरान कोर्ट ने उनकी उम्र को देखते हुए कहा कि आप चाहें तो बैठकर अपनी दलील रख सकते हैं. इसपर परासरन ने विनम्रता से कहा कि परंपरा इसकी इजाजत नहीं देती, मैं खड़े होकर ही अपनी बात रखूंगा.

Supreme Court on Ayodhya Ram Mandir Dispute Case Updates: सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या राम मंदिर मामले में आज की सुनवाई खत्म, कल भी जारी रहेगी निर्मोही अखाड़े की तरफ से बहस

Ayodhya Ram Mandir Dispute Case Live Streaming: सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या राम मंदिर मामले की सुनवाई की लाइव स्ट्रीमिंग की मांग, पूर्व संघ प्रचारक के एन गोविंदाचार्य ने दाखिल की याचिका

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App