Ayodhya Ram Mandir Court Verdict: दशकों लंबे इंतजार के बाद आज यानी 9 नवंबर 2019 शनिवार को देश की सुप्रीम कोर्ट अयोध्या राम मंदिर बाबर मस्जिद विवादित जमीन मामले पर फैसला सुनाने जा रही है. मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस की तरफ से अयोध्या समेत पूरे उत्तर प्रदेश में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं. राम जन्मभूमि मंदिर की तरफ जाने वाले सभी रास्ते सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए बंद कर दिए गए हैं. अब वहां सिर्फ पैदल गुजरा जा सकेगा. पूरे उत्तर प्रदेश में पुलिस सुरक्षा व्यवस्था को बनाए रखने के लिए रिहर्सल कर रही हैं. यूपी के 31 जिलों में अस्थाई जेलें बना दी गई हैं. वहां जरूरत पड़ने पर गिरफ्तार कर लोगों को रखा जा सकेगा. वहीं सीमा पार के खतरों को देखते हुए यूपी से सटे भारत नेपाल बॉर्डर को भी सील कर दिया गया है.

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के चलते अयोध्या में नाकेबंदी काफी सख्त हो गई है. शहर में बाहर से प्रवेश करने वाले सभी चार पहिया वाहनों के प्रवेश पर पाबंदी लगा दी गई है. सिर्फ दो पहिया वाहनों को पहचान पत्र के साथ शहर में प्रवेश की इजाजत दी गई है. इसके साथ ही स्थानीय निवासियों को सिर्फ दो पहिया वाहनों से शहर में घूमने की इजाजत है. विवादित जगह के चारों तरफ 67 एकड़ जमीन पहले से केंद्र सरकार के कब्जे और सेंट्रल फोर्सेस की निगरानी में है. इसके साथ पूरे अध्योया में पुलिस जनता के बीच जाकर उन्हें समझाने और हिफाजत का भरोसा दिलाने की कोशिश कर रही है.

अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद सीमापार से संभावित खतरे से निपटने के लिए उत्तर प्रदेश से सटे भारत-नेपाल बॉर्डर को पूरी तरह से सील कर दिया गया है. साथ ही बॉर्ड पर सीमा सशस्त्र बल के जवानों की चौकसी बढ़ा दी गई है. बॉर्डर पर होने वाली हर गतिविधि पर करीब से नजर रखी जा रही है. गृह मामले के अतिरिक्त मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने कहा कि बिना उचित पहचान के किसी को भी संवेदनशील सीमा पर जाने की अनुमति नहीं दी जाएगी.

अयोध्या के सार प्रमुख मंदिरों के आसपास बड़े पैमाने पर सुरक्षबलों को तैनात किया गया है. जिन जगहों पर सुरक्षा बढ़ाई गई है उनमें रामजन्मभूमि कॉम्प्लेक्स, हनुमानगढ़ी, दशरथ महल, कनक भवन, मंदिर निर्माण कार्यशाला राम की पैड़ी, कारसेवक पुरम, सरयू घाट शामिल है. प्रशासन का कहना है कि वहां सुरक्षा पूरी रहेगी लेकिन जिदंगी अपनी रफ्तार से चलेगी.

Police Advisory Ahead of Ayodhya Verdict: अयोध्या फैसले पर गलत या भड़काऊ सोशल मीडिया मैसेज पर यूपी डीजीपी ओपी सिंह की चेतावनी- फेसबुक, व्हाट्सएप, ट्विटर, इंस्टाग्राम सब पर नजर, कोई गलतफहमी में रहे कि पकड़ा नहीं जाएगा

Supreme Court Ayodhya Verdict Appeal Options: अयोध्या पर अंतिम नहीं होगा सुप्रीम कोर्ट के 5 जजों की सविंधान पीठ का फैसला, जजमेंट के बाद भी अपील का विकल्प है

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App