नई दिल्ली. देश के सबसे पुराने अदालती मामले अयोध्या राम जन्मभूमि बाबरी मस्जिद केस में सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अगुवाई में सुबह 10.30 से फैसला सुनाना शुरू कर दिया है. सुप्रीम कोर्ट आज कुल चार सूट पर फैसला सुनाएगा.  सबसे पहले 5 सदस्यीय पीठ शिया वक्फ बोर्ड की याचिका पर फैसला सुनाएगा. शिया वक्फ बोर्ड ने ये दावा किया है कि जमीन पर मालिकाना हक सुन्नी वक्फ बोर्ड का नहीं बल्कि उनका है. सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुनाने की शुरुआत शिया वक्फ बोर्ड बनाम सुन्नी वक्फ बोर्ड के केस में किया. सुप्रीम कोर्ट ने शिया वक्फ बोर्ड की याचिका खारिज कर दी है. इसके साथ ही निर्मोही अखाड़ा की याचिका को भी सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ ने खारिज कर दिया है. 

बता दें कि शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी कई मौकों पर यह कह चुके हैं कि विवादित स्थल पर राम मंदिर बनना चाहिए. शिया वक्फ बोर्ड का दावा कोर्ट में टिक नहीं पाया और कोर्ट ने आज फैसले की शुरुआत ही शिया वक्फ बोर्ड की याचिका खारिज करने के साथ की. इसके बाद निर्मोही अखाड़ा और अन्य पक्षों की याचिकाएं भी खारिज हुईं. आखिर में रामलला विराजमान और सुन्नी वक्फ बोर्ड की याचिकाएं बची थीं. 

इस फैसले को लेकर अयोध्या में सुरक्षा के कड़े इंतजाम कर दिए गए है. इसके साथ ही प्रदेश के कई बड़े शहरों में इंटरनेट भई बंद कर दिया गया है और धारा 144 लागू कर दी गई है. सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले का पूरे देश को इंतजार है, यूपी के डीजीपी ओपी सिंह ने साफ कह दिया है गया जो लोग सोशल मीडिया पर गलत मैसेज फैला रहे है उन पर नजर रखी जा रही है.

ये भी पढ़ें Read Also: 

Supreme Court Orders Ram Temple In Ayodhya: सुप्रीम कोर्ट का फैसला- अयोध्या में राम मंदिर बनेगा, मस्जिद के लिए सुन्नी वक्फ बोर्ड को 5 एकड़ दूसरी जमीन, रामलला की जीत, निर्मोही अखाड़ा और शिया वक्फ बोर्ड का दावा खारिज

Ayodhya Ram Mandir Babri Masjid Court verdict: अयोध्या में राम मंदिर बनने का रास्ता साफ, 1850 से 2019 तक ऐसे घटना पूरा घटनाक्रम

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App