लखनऊ: एक तरफ जहां अयोध्या राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद मामले में सुप्रीम कोर्ट में रोजाना सुनवाई हो रही है और लंबे समय से कोर्ट में लंबित इस मामले पर निर्णयक फैसला सुनाने के करीब है वहीं दूसरी तरफ इंडियन मुस्लिम फॉर पीस हिंदू पक्ष को विवादित जमीन गिफ्ट करने की योजना बना रहा है. इस ग्रुप का कहना है कि अगर मुसलमानों के पक्ष में भी सुप्रीम कोर्ट फैसला सुनाता है तो भी वो जमीन हिंदूओं को गिफ्ट कर देनी चाहिए.

इस ग्रुप में अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर लेफ्टिनेंट जमीरउद्दीन शाह हैं जो अभिनेता नसीरुद्दीन शाह के भाई भी हैं और डिप्टी चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ के पद पर भी रह चुके हैं. न्यूज चैनल एनडीटीवी को दिए इंटरव्यू में उन्होंने कहा कि ‘हमें सच स्वीकार कर लेना चाहिए, चाहे वो फैसला मुसलमानों के पक्ष में ही क्यों ना हो. क्या उस जगह पर मस्जिद बनाना संभव है? मुझे लगता है ये नामुमकिन है. देश के हालात को देखते हुए ये एक सपना है जो कभी साकार नहीं हो सकता. अगर मुसलमानों के हक में भी फैसला आता है तो मुसलमानों के पास ये विकल्प है कि वो हिंदु बहुसंख्यकों को वो जमीन तोहफे में दे दें.’

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या राम मंदिर विवाद को सुलझाने के लिए तीन सदस्यों की मध्यस्थता समिति बनाई थी जिसने हर पक्ष से बात करके मामले को आपसी बातचीत के जरिए सुलझाने की कोशिश की थी. इस पैनल में सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जस्टिस फकीर मोहम्मद इब्राहिम खलीफुल्ला, आध्यात्मिक गुरु श्री श्री रविशंकर और वरिष्ठ अधिवक्ता श्रीराम पंचू शामिल थे.

मध्यस्थता समिति से जब मामले का कोई हल नहीं निकला तो सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले की रोज सुनवाई शुरू कर दी. उम्मीद है कि 15 नवंबर से पहले अयोध्या राम जन्मभूमि मालमे पर फैसला आ जाएगा क्योंकि चीफ जस्टिस रंजन गोगोई नवंबर में रिटायर हो रहे हैं और अगर उनके रिटायरमेंट तक फैसला नहीं आता है तो सुप्रीम कोर्ट की परंपरा के अनुसार मामले की सुनवाई फिर से शुरू होगी क्योंकि पैनल में शामिल हुए नए जज को अबतक हुई सुनवाई के बारे में कोई जानकारी नहीं होगी.

Ayodhya Land Dispute Case SC Hearing Day 37 Written Updates: जानिए अयोध्या मामले में हुई 37वें दिन की सुनवाई, सुप्रीम कोर्ट ने मुस्लिम पक्ष की दलीलों पर क्या दी राय

Ayodhya Land Dispute Case SC Hearing Day 36 Written Updates: अयोध्या मामले में हुई 36वें दिन की सुनवाई, जानिए हिन्दू पक्ष की दलीलों पर क्या बोला सुप्रीम कोर्ट, कल भी जारी रहेगी सुनवाई

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App